Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

उत्तराखंड पहुंचा ''पद्मावत'' का विवाद, तोड़फोड़ की घटनाओं के बाद पुलिस फोर्स अलर्ट

उत्तराखंड पुलिस 25 जनवरी को रिलीज हो रही संजय लीला भंसाली की ''पदमावत'' के प्रदर्शन के दौरान सिनेमाघरों की सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम करेगी।

उत्तराखंड पहुंचा

फिल्म पद्मावत की आग अब उत्तराखंड में भी नजर आ रही है। विभिन्न संगठनों की ओर से विरोध की चेतावनियों के मद्देनजर उत्तराखंड पुलिस 25 जनवरी को रिलीज हो रही संजय लीला भंसाली की 'पदमावत' के प्रदर्शन के दौरान सिनेमाघरों की सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम करेगी।

प्रदेश के पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी ने बताया कि 'पद्मावत' के प्रदर्शन के दौरान किसी भी संभावित अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

इसे भी पढ़ेंः Oscars 2018 : टॉप पर फिल्म 'द शेप ऑफ वाटर', यहां देखें ऑस्कर नोमिनेशन की पूरी लिस्ट

इसी क्रम में अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार ने सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को फिल्म के प्रदर्शन के दौरान सिनेमाघरों में पर्याप्त सुरक्षा की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है।

इस संबंध में जिले के पुलिस प्रमुखों को लिखे पत्र में कुमार ने कहा है कि कई संगठन फिल्म का प्रदर्शन रोकने को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। ऐसे में 25 जनवरी को फिल्म रिलीज के बाद प्रदेश में शांति व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने से इनकार नहीं किया जा सकता है।

इसके मद्देनजर किसी भी संभावित स्थिति से निपटने के लिए पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम की जरूरत है। दूसरी तरफ, उत्तरांचल सिनेमा एसोसिएशन के सचिव और सिल्वर सिटी मल्टीप्लेक्स के मालिक सुयश अग्रवाल का कहना है कि सिनेमाघरों को पर्याप्त पुलिस सुरक्षा मिलने की स्थिति में ही पद्मावत का प्रदर्शन किया जाएगा।

अग्रवाल ने कहा कि हम चाहते हैं कि उच्च कोटि की फिल्म 'पदमावत' को प्रदेश के लोग सिनेमाघरों में देख सकें। लेकिन इसके लिए जरूरी है कि प्रदेश पुलिस हमें पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करे।

इसे भी पढ़ेंः कुमार विश्वास ने केजरीवाल पर साधा निशाना, कहा- शिवपाल और मैं पार्टी के 'आडवाणी'

प्रदेश में सिंगल और मल्टीस्क्रीन वाले करीब 50 सिनेमाघर हैं। युवा सेना सहित कई संगठन पिछले काफी दिनों से 'पद्मावत' के प्रदर्शन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कई सिनेमाघरों के गेट पर बैठकर धरना दिया और उन्हें फिल्म प्रदर्शित नहीं करने की चेतावनी दी।

Next Story
Top