Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

उत्तराखंड पुलिस ने गुमशुदगी की FIR लिखने के बजाय दी इश्तहार छपवाने की सलाह

उत्तराखंड में पुलिस की मनमानी का एक मामला सामने आया है। पुलिस ने लापता हुए व्यक्ति की रिपोर्ट लिखने के बजाय परिवार को गुमशुदगी का इश्तहार छपवाने की सलाह देकर थाने से घर वापस भेज दिया। मामले ने तुल पकड़ा तो जाकर पुलिस ने एफआईआर दर्ज किया।

उत्तराखंड पुलिस ने गुमशुदगी की FIR लिखने के बजाय दी इश्तहार छपवाने की सलाह

उत्तराखंड में पुलिस की मनमानी का एक मामला सामने आया है। पुलिस ने लापता हुए व्यक्ति की रिपोर्ट लिखने के बजाय परिवार को गुमशुदगी का इश्तहार छपवाने की सलाह देकर थाने से घर वापस भेज दिया। मामले ने तुल पकड़ा तो जाकर पुलिस ने एफआईआर दर्ज किया।

ऋषिकेश कोतवाली क्षेत्र में रिजर्व इंजीनियरिंग फोर्स के सिपाही विजयपाल बीते चार दिन से लापता हो गए। वह ऋषिकेश से अपने घर रोहतक के लिए बस पर बैठे थे। पर घर नहीं पहुंचे। परेशान परिजनों ने ऋषिकेश कोतवाली में मामला दर्ज कराने का प्रयास किया।

लापता सिपाही के भाई कुलदीप ने बताया कि पुलिस ने कई दिनों तक उनके भाई की एफआईआर दर्ज नहीं की। इस कारण उनके परिवार को बहुत निराशा हुई। उन्होंने पुलिस द्वारा टाल मटोल के रवैया को शर्मनाक बताया है।

इस मामले पर ऋषिकेश कोतवाली के कोतवाल रितेश शाह ने कहा कि लापता सिपाही के परिजन मुझे सोमवार को मिले, जिन्हें मेरी ओर से कार्रवाई का आश्वासन देकर एफआईआर दर्ज कर ली गई है। पूर्व में दो जून को किस पुलिसकर्मी ने उन्हें गुमशुदगी दर्ज करने से मना कर दिया। यह मामला मेरे संज्ञान में नहीं है।

Next Story
Top