Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

उत्तराखंड: नंदादेवी पर्वत पर मृत पड़े 8 पर्वतारोहियों के शव लाने के लिए सेना का विशेष अभियान शुरू

13 मई को मुनस्यारी से नंदादेवी ईस्ट में पर्वतारोहण करने निकले 8 विदेशी पर्वतारोहियों के शव को निकालने के लिए बुधवार सुबह से अभियान शुरू किया गया। एयरफोर्स का हेलीकॉफ्टर आईटीबीपी की टीम के साथ विदेशी पर्वतारोहियों का शव खोजने के लिए निकल चुका है।

उत्तराखंड: नंदादेवी पर्वत पर मृत पड़े 8 पर्वतारोहियों के शव लाने के लिए सेना का विशेष अभियान शुरू

13 मई को मुनस्यारी से नंदादेवी ईस्ट में पर्वतारोहण करने निकले 8 विदेशी पर्वतारोहियों के शव को निकालने के लिए बुधवार सुबह से अभियान शुरू किया गया। एयरफोर्स का हेलीकॉफ्टर आईटीबीपी की टीम के साथ विदेशी पर्वतारोहियों का शव खोजने के लिए निकल चुका है।

लापता पर्वतारोहियों के शवों को निकालने के लिए हेलीकॉफ्टर नैनीसैनी हवाई पट्टी लाया जाएगा। सभी के शव नंदा देवी चोटी पर होने की उम्मीद जताई गई है। उनकी खोज के लिए आईटीबीपी के साथ सेना और एसडीआरएफ की टीमें भी लगी हैं।

इसके पहले सेना द्वारा चलाए गए सर्च आपरेशन के दौरान 5 पर्वतारोहियों के शव बर्फ में पड़े दिखे। इसके बाद उनके शवों को निकालने के लि विशेष इंतजाम शुरू किए गए। आईटीबीपी ने बर्फ में दबे पर्वतारोहियों के शवों को निकालने के लिए विशेष उपकरण दिल्ली से मंगाए हैं।

बताया गया है कि शवों को संरक्षित रखने के लिए उन्हें सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्दानी भेजा जाएगा। जहां सभी शव के डीएनए सैंपल भी लिए जाएंगे। जिला प्रशासन ने मृतक पर्वतारोहियों के दूतावासों से समर्क कर लिया है।

आठ पर्वतारोहियों में ब्रिटेन निवासी लीडर मार्टिन मोरिन, ब्रिटेन के ही पर्वतारोही जोन चार्लिस मैकलर्न, रिचर्ड प्याने, रूपर्ट वेवैल, अमेरिका के एंथोनी सुडेकम, रोनाल्ड बीमेल, आस्ट्रेलिया की महिला पर्वतारोही रूथ मैकन्स और इंडियन माउंटनेयरिंग फेडरेशन के जनसंपर्क अधिकारी चेतन पांडेय लापता हो गए थे।

Next Story
Top