Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019 : बाबा रामदेव का हर की पौड़ी पर योग कार्यक्रम रद्द, अब यहां हो सकता है प्रोग्राम

आगामी 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर यहां हर की पौड़ी पर गंगा नदी के किनारे यौगिक क्रियायें करने का पंतजलि योगपीठ का प्रस्तावित कार्यक्रम रद्द हो गया है। योग दिवस के अवसर पर योग गुरु बाबा रामदेव गंगा नदी के तट पर बॉलीवुड कलाकारों सहित हजारों योग साधकों के साथ यौगिक क्रियाओं का प्रदर्शन करने वाले थे।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019 : बाबा रामदेव का हर की पौड़ी पर योग कार्यक्रम रद्द, अब यहां हो सकता है प्रोग्राम

आगामी 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga डे) पर यहां हर की पौड़ी पर गंगा नदी के किनारे यौगिक क्रियायें करने का पंतजलि योगपीठ का प्रस्तावित कार्यक्रम रद्द हो गया है। योग दिवस के अवसर पर योग गुरु बाबा रामदेव (Baba Ramdev) गंगा नदी के तट पर बॉलीवुड कलाकारों सहित हजारों योग साधकों के साथ यौगिक क्रियाओं का प्रदर्शन करने वाले थे।

गंगा तट पर अपनी तरह का यह पहला कार्यक्रम होने वाला था। योग गुरु के करीबी सहयोगी आचार्य बालकृष्ण (Acharya Balkrishna) ने यहां संवाददाताओं को बताया कि पतंजलि योगपीठ और गंगा सभा के बैनर तले बाबा रामदेव के नेतृत्व में होने वाला यह कार्यक्रम अपरिहार्य कारणों के चलते रद्द कर दिया गया है।

हालांकि, उन्होंने कहा कि योग दिवस पर पतंजलि तथा उसके सहयोगी संस्थानों में प्रस्तावित सभी कार्यक्रम यथावत होंगे। यहां राजनीतिक हलकों में इस बात की चर्चा चल रही है कि रामदेव अब अपना यह कार्यक्रम संभवत: महाराष्ट्र के नांदेड़ में करेंगे जहां इस वर्ष के आखिर में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।

ऐसा माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) भी नांदेड में बाबा रामदेव के इस कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि यौगिक क्रियाओं के इस कार्यक्रम के स्थान में परिवर्तन भाजपा के शीर्ष स्तरीय नेताओें के आग्रह पर किया गया है जो इस कार्यक्रम को महाराष्ट्र या हरियाणा में रखे जाने के पक्ष में थे।

दोनों ही राज्यों में जल्द चुनाव होना है। रामदेव ने पिछले सप्ताह स्वयं इस बात की घोषणा की थी कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर गंगा तट पर बडे़ पैमाने पर होने वाले इस कार्यक्रम में हजारों योग साधक तथा अन्य लोग यौगिक क्रियाएं करेंगे।

प्रस्तावित कार्यक्रम को 'ऐतिहासिक' बताते हुए उन्होंने कहा था कि यह भारतीय संस्कृति के दो महत्वपूर्ण पहलुओं, योग और गंगा का सम्मिश्रण होगा। उन्होंने कहा था, 'गंगा लोगों को उनके बुरे कर्मों के पाप से मुक्ति दिलाती है और योग उनके तंत्र को सभी बीमारियों से मुक्त रखता है। भारतीय संस्कृति के यही दो सबसे महत्वपूर्ण पहलू इस कार्यक्रम में साथ आयेंगे।

Next Story
Top