Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सीएम त्रिवेंद्र रावत ने नेलांग पहुंचकर ITBP के जवानों के साथ मनाया गणतंत्र दिवस

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत आज उत्तरकाशी के नेलांग पोस्ट पहुंचे और वहां भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के जवानों के साथ गणतंत्र दिवस मनाया।

सीएम त्रिवेंद्र रावत ने नेलांग पहुंचकर ITBP के जवानों के साथ मनाया गणतंत्र दिवस
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत आज उत्तरकाशी के नेलांग पोस्ट पहुंचे और वहां भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के जवानों के साथ गणतंत्र दिवस मनाया।
इस अवसर पर उन्होंने नेलांग में ध्वजारोहण भी किया। उन्होंने जवानों के उत्साहवर्धन के लिए उनके साथ समय बिताया एवं मिष्ठान वितरण भी किया। जवानों ने मुख्यमंत्री रावत को अपने बीच पाकर प्रसन्नता व्यक्त की और कहा कि इससे कार्य करने का जज्बा तथा हौसला और बढ़ता है।
यहां जारी एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कहा कि देश के सैनिक एवं अर्द्धसैनिक बलों के जवान विपरीत परिस्थितियों में बुलंद हौसले के साथ देश की सेवा कर रहे हैं और इसी कारण हम आजादी से सांस ले रहे हैं।
नेलांग को सामरिक और प्राकृतिक दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण क्षेत्र बताते हुए रावत ने कहा कि 11614 फीट की ऊंचाई पर शून्य से नीचे के तापमान में जवान चौबीस घंटे देश और हिमालय के सजग पहरेदार के रूप में सेवा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे क्षेत्र में आने वाली किसी भी आपदा के लिए पहले रिस्पॉन्डर के तौर पर कार्य कर रहे हैं। आपदा के दौरान इन हिमवीरों द्वारा किये गये राहत एवं बचाव कार्यों की भी मुख्यमंत्री ने सराहना की।
उन्होंने कहा कि आईटीबीपी के जवान देश के प्रति निष्ठा से अपने कर्तव्यों का पालन करने के साथ ही सामाजिक हित के कार्यों में भी महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने आईटीबीपी के जवानों के कल्याण हेतु कई प्रयास किये हैं। आईटीबीपी को आधुनिक संसाधनों से लैस बनाया गया है, ताकि जवान भविष्य में आने वाली चुनौतियों के लिए और अधिक सक्षम हों। इसके लिए जवानों को आधुनिक उपकरण, ऑप्टिकल डिवाइस, टेलीकम्युनिकेशन के उपकरण प्रदान किये गये हैं।
रावत ने कहा कि आईटीबीपी की सभी अग्रिम चैकियों को सड़क मार्ग से जोड़ने के लिए सीमा क्षेत्रों में सड़कों का निर्माण कार्य प्रगति पर है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड सरकार ने घोषणा की है कि सैनिक एवं अर्द्धसैनिक बलों में ड्यूटी के दौरान वीरगति को प्राप्त होने वाले उत्तराखंड के निवासियों के आश्रितों को राज्य सरकार के द्वारा शैक्षिक योग्यता के आधार पर सेवायोजित किया जायेगा।
Next Story
Top