Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

स्कूलों की लापरवाही: 10 लाख छात्रों के भविष्य पर लटकी तलवार

शिक्षा विभाग ने लिया 16 जून से नया सत्र शुरू करने का निर्णय

स्कूलों की लापरवाही: 10 लाख छात्रों के भविष्य पर लटकी तलवार
X
स्कूल शिक्षा विभाग ने पांचवीं-आठवीं की परीक्षा फरवरी मार्च में लेने का फैसला किया है। दूसरी और 16 जून से नया सत्र शुरू करने का निर्णय लिया है। मतलब साफ है। मार्च से लेकर जून तक पांचवीं-आठवीं के लाखों बच्चे घर में बैठेंगे और इनके समय का उपयोग नहीं हो पाएगा। स्कूल शिक्षा विभाग ने पांचवीं-आठवीं की परीक्षा के लिए तारीखों का एलान कर दिया है।
दोनों परीक्षाएं 24 फरवरी से 6 मार्च के बीच ली जाएंगी। दूसरी और स्कूल शिक्षा विभाग ने 16 जून से नया सत्र शुरू करने का निर्णय लिया है। ऐसे में इसका विरोध भी शुरू हो गया है।

मार्च-अप्रैल में परीक्षा की मांग

जानकारों का कहना है कि 16 जून से नया सत्र शुरू हो रहा है लेकिन स्कूल शिक्षा विभाग ने परीक्षाओं का शेड्यूल नहीं बदला है। पिछले साल की तरह इस साल भी फरवरी-मार्च तक पांचवीं-आठवीं की परीक्षा कराने का निर्णय लिया गया है।
ऐसे में सवाल खड़े किए जा रहे हैं कि साढ़े तीन महीने तक बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होगी। घर में बैठकर वे क्या करेंगे। जब सत्र जून में ही शुरू करना है तो परीक्षा फरवरी-मार्च में क्यों ली जा रही है। मार्च-अप्रैल में भी परीक्षा ली जा सकती है।

10 लाख विद्यार्थी होंगे इस साल शामिल

गौरतलब है कि स्कूल शिक्षा विभाग ने पांचवीं-आठवीं की वार्षिक परीक्षा का टाइम टेबल अभी से जारी कर दिया है। पांचवीं की परीक्षा 26 फरवरी से 5 मार्च तक और आठवीं की 24 फरवरी से 6 मार्च होगी। परीक्षा का समय सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक होगा।
दोनों परीक्षाओं में लगभग 10 लाख विद्यार्थी शामिल होंगे। इनके परिणाम हर हाल में 30 मार्च तक घोषित कर दिए जाएंगे। इसके लिए तैयारी भी शुरू कर दी गई है।

नया सत्र जून से शुरू होगा

स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा पांचवीं-आठवीं की परीक्षा फरवरी-मार्च में ली जाएगी। रिजल्ट भी 30 मार्च तक घोषित कर दिए जाएंगे। नया सत्र 16 जून से ही शुरू होगा। फिलहाल तो यही आदेश है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top