Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बद्रीनाथ मंदिर को कपाट बंद करने से पहले फूलों से सजाया, सुंदरता देखकर मोहित हो जाएंगे

बंद्रीनाथ मंदिर आज शाम 5.13 मिनट पर सर्दियों के चलते बंद कर दिया जाएगा। इससे पहले मंदिर को गेंदे के फूलों से सजाया गया है।

Badrinath Dham:ब्रह्म बेला में विधि विधान से खुले बदरीनाथ धाम के कपाट, कोरोना से मुक्ति के लिए की गई भगवान से पहली प्रार्थना
X

Badrinath Dham:ब्रह्म बेला में विधि विधान से खुले बदरीनाथ धाम के कपाट, कोरोना से मुक्ति के लिए की गई भगवान से पहली प्रार्थना

उत्तराखंड स्थित बद्रीनाथ मंदिर के कपाट आज शाम 17 अक्टूबर से बंद हो जाएंगे। जिसके साथ ही चार धाम की यात्रा भी खत्म हो जाएगी। मंदिर के कपाट बंद करने से पहले विशेष पूजा का आयोजन होगा। ऐसे में मंदिर को भव्य तरीके से सजाया गया है। मंदिर की सजावट के लिए परंपरा के मुताबिक गेंदे के फूलों का इस्तेमाल किया गया है।

बद्रीनाथ मंदिर प्रबंधन के मुताबिक शाम की पूजा करीब 1.25 मिनट पर होगी। इसके बाद 3 बजे से कपाट बंद करने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। शाम 5.13 मिनट पर मंदिर को पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा। मुख्य पुजारी ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी ने विशेष पूजा कर लक्ष्मी जी का आह्वान किया है। मंदिर बंद होने से पहले माता लक्ष्मी को विराजमान किया जाएगा। इसके बाद करीब 5 महीने तक चारों धाम के मंदिरों के कपाट बंद रहेंगे। अगले साल अप्रैल से मंदिरों के कपाट खुलने की प्रक्रिया शुरू होगी।

भारी संख्या में मौजूद श्रद्धालु

बद्रीनाथ मंदिर के कपाट बंद होने से पहले बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे हैं। जो कि मंदिर के बंद होने से पहले अंतिम दिन दर्शन करेंगे। इसके अलावा बड़ी संख्या में राजनीतिक हस्तियां भी दर्शन करने के लिए पहुंच रही हैं। वन मंत्री हरक सिंह रावत ने शनिवार दोपहर बद्रीनाथ मंदिर के दर्शन किए हैं।



और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story