Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सांवणी अग्निकांड मामला, सेना ने सीएम का हेलीकॉप्टर नहीं उतरने दिया

सेना के जवानों से हेलीपैड पर दो ड्रम रखवा दिए। इस दौरान सीएम रावत का हेलीकॉप्‍टर दुर्घटनाग्रस्‍त होने बाल-बाल बच गया।

सांवणी अग्निकांड मामला, सेना ने सीएम का हेलीकॉप्टर नहीं उतरने दिया

सांवणी गांव के अग्निकांड पीड़ितों को राहत राशि देने जा रहे उत्तराखंड के सीएम त्रिवेन्द्र सिंह के हेलीकॉप्‍टर को सेना के एक जीओसी ने अपने जीटीसी स्थित हेलीपैड पर उतरने नहीं दिया।

सेना के जवानों से हेलीपैड पर दो ड्रम रखवा दिए। इस पर पायलट ने हेलीकॉप्‍टर को दूसरी जगह उतारा। इस दौरान हेलीकॉप्‍टर दुर्घटनाग्रस्‍त होने बाल-बाल बच गया।

मुख्यमंत्री को उत्तरकाशी में जखोल के अस्थायी हैलीपैड में उतरना था। इसके लिए देहरादून कैंट स्थित जीटीसी हैलीपैड से मुख्यमंत्री के हेलीकाप्टर को प्रस्थान करना था।

इसे भी पढ़ें- शहीद राकेश रातुरी की अंतिम विदाई में पहुंचे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री, नम आंखों से दी लोगों ने श्रद्धांजलि

ये हमारा एरिया है, सीएम को बता दो

जीओसी ने हेलीपेड के पास अपनी गाड़ी खड़ी कर दी। ड्यूटी पर तैनात सीओ सिटी और थानाध्यक्ष कैंट को धमकाया और कहा कि यह हमारा एरिया है और अपने सीएम को बता दो कि यहां हमारी मर्जी से ही आप लोग आ जा सकते हैं।

पायलट को नहीं दिखे ड्रम

मुख्यमंत्री का हेलीकाप्टर जीटीसी पर बने हेलीपैड पर उतर रहा था, तो उसी वक्त कुछ सेना के जवानों ने हेलीपेड पर दो ड्रम रख दिए। पायलट को भी हेलीपैड पर रखे ड्रम नहीं दिखाई दिए। जब पायलट ने ड्रम देखे तो उसने तत्काल हेलीकाप्टर को दूसरी जगह पर लैंड किया वहां भी वह दुर्घटनाग्रस्त होने से बचा।

मेजर यादव ने कहा, ऐसा कुछ नहीं हुआ

उत्तराखंड सब एरिया के जीओसी मेजर जनरल जेएस यादव ने कहा कि मामला ऐसा बिल्कुल नहीं है जैसा बताया गया। जिन परिस्थिति में और जहां सीएम का हेलीकाप्टर लैंड होना था वह सेफ नहीं था। इससे ज्यादा मैं कुछ नहीं कहना चाहूंगा।

पुलिस की गाड़ियां कराईं बाहर

जीओसी ने कहा कि सब पुलिस वाले अपनी गाड़ियों के साथ बाहर ही रहेंगे, लेकिन मुख्यमंत्री के वाहन को उनके द्वारा जाने के लिए जगह दे दी गई। उसके बाद मुख्यमंत्री ने हेलीकाप्टर से वहां से उत्तरकाशी के लिए प्रस्थान किया।

सुरक्षा अधिकारी ने लिखाई रिपोर्ट

मुख्यमंत्री के मुख्य सुरक्षा अधिकारी ने इस संबंध में थाना कैंट में रिपोर्ट लिखाई है। अपर सिटी मजिस्ट्रेट और सीओ सिटी की ओर से भी इस संबंध में जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को रिपोर्ट भेजी है।

रक्षा मंत्रालय में होगी शिकायत

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जीओसी सब एरिया की इस हरकत को काफी गंभीरता से लिया और नाराजगी जतायी है। सरकार द्वारा जीओसी की इस हरकत की शिकायत रक्षा मंत्रालय से भी की जाएगी।

Next Story
Top