Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

योगी सरकार का एक साल, एंटी करप्शन पोर्टल लॉन्च- ऐसे दर्ज करें शिकायत

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज ''एंटी करप्शन पोर्टल'' लांच किया। इस वेबपोर्टल पर कोई भी व्यक्ति ऑडियो, वीडियो भेजकर भ्रष्टाचार की शिकायत दर्ज करा सकता है।

योगी सरकार का एक साल, एंटी करप्शन पोर्टल लॉन्च- ऐसे दर्ज करें शिकायत
X

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज 'एंटी करप्शन पोर्टल' लांच किया। इस वेबपोर्टल पर कोई भी व्यक्ति ऑडियो, वीडियो भेजकर भ्रष्टाचार की शिकायत दर्ज करा सकता है। उत्तर प्रदेश सरकार ने अपनी एक साल की उपलब्धियां गिनाई। प्रदेश सरकार ने अपने एक साल पूरे होने पर नया नारा 'एक साल नई मिसाल' तैयार किया है। इस संबंध में सरकार ने एक पुस्तिका भी जारी की।

सीएम योगी ने कहा कि सरकार भ्रष्टाचार के प्रति सख्त रवैयया अपना रही है। पिछले एक साल में 192 अधिकारियों कर्मचारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार में लिप्त रहने पर कार्रवाई की गयी है। एंटी करप्शन पोर्टल लांच किया जा रहा है ताकि भ्रष्टाचार का खात्मा हो। प्रदेश में किसी भी स्तर पर भ्रष्टाचार संबंधी वीडियो अगर उस पर अपलोड कर दे तो उस पर प्रभावी कार्रवाई करेंगे।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि भ्रष्टाचार, गुंडाराज और अराजकता की पूर्व की सरकारों के अनैतिक कार्य हमने खत्म किए। हमने विकास को अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार 64 विभागों में चार लाख नौकरी लेकर आ रही है, जिसमें पुलिस, ग्राम विकास, लेखपाल, अधिशासी अधिकारी जैसे पद शामिल हैं। हम नियुक्ति की प्रक्रिया बेहतर और पारदर्शी करेंगे।

लोगों की शिकायतों का निवारण

सीएम योगी ने आगे कहा कि भर्ती पर रोक लगी थी क्योंकि यहां भर्तियों में पक्षपात था। हमने नौकरियों के लिए द्वार खोले हैं। जनसुनवाई पोर्टल के माध्यम से लोगों की शिकायतों का निवारण कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 'एक जनपद, एक उत्पाद' योजना के तहत आगामी तीन साल में 20 लाख नौकरियों का सृजन होगा।

बैंको के कर्ज से उबारने का निर्णय

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहली कैबिनेट में ही राज्य के 86 लाख से अधिक किसानों के फसली रिण मोचन का फैसला लेते हुये 36 हजार करोड. रूपये का व्यय करके छोटे किसानों को बैंको के कर्ज से उबारने का निर्णय लिया। भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए 'ई टेंडरिंग प्रणाली' लागू की जिससे ठेकों और सरकारी कार्यो में होने वाली धांधली और भ्रष्टाचार पर प्रभावी अंकुश लग सके।

एंटी रोमियो स्कवायड

योगी ने कहा कि स्कूली छात्राओं और युवतियों को शोहदों से बचाने के लिये एंटी रोमियो स्कवायड गठित किया। प्रदेश में पहली बार नकल विहीन परीक्षा का आयोजन किया। जब परीक्षा में सख्ती की गई तो करीब 12 लाख छात्रों ने परीक्षा छोड़ दी। छात्रों के परीक्षा छोड़ने पर जब हमने जांच की तो हमें जांच में पता चला की 75 फीसदी छात्र ऐसे थे जिनका यूपी से कोई संबंध नहीं था।

एक बंदर ने रावण की लंका को जलाया

उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को बंदर से डर लगता है पर एक बंदर ने रावण की लंका को जलाया था और अब यहीं बंदर प्रदेश से भ्रष्टाचार और अपराध और गुंडाराज को जलाएगा। प्रदेश में अब कानून व्यवस्था की स्थिति ठीक हो रही है और प्रदेश में गत वर्ष की तुलना में डकैती, हत्या, रोड होल्डअप आदि अपराधों में कमी आई है।

यूपी क्राइम रिपोर्ट

मुख्यमंत्री का यह बंदर वाला ​बयान समाजवादी पार्टी के विधानपरिषद सदस्य आनंद भदौरिया के एक ट्वीट के जवाब में आया है। पुलिस और अपराधियों के बीच 1418 मुठभेड. हुई जिसमें 3316 अपराधी गिरफतार हुए और 45 अपराधी मारे गए और 366 अपराधी घायल हुए।

अटल जी की कविता

इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब आज हम अपनी सरकार के एक साल पूरे कर रहे हैं तो मुझे अटल जी की एक कविता याद आ रही है। 'बाधाएं आती हैं, आए घिरें प्रलय की घोर घटाएं। पावों के नीचे अंगारे, सिर पर बरसें यदि ज्वालाएं, निज हाथों में हंसते-हंसते, आग लगाकर जलना होगा, कदम मिलाकर चलना होगा।"

कानपुर, आगरा और मेरठ में मेट्रो परियोजना शुरू

उन्होंने कहा कि बेसिक शिक्षा के छात्रों की ड्रेस पहले होमगार्ड से बद्दतर थी। अब प्राइमरी का बच्चा जूता और मोजा पहन सकता हैं। एक लाख 54 हजार छात्रों को पहली बार निशुल्क स्वेटर दिया। कानपुर, आगरा और मेरठ में मेट्रो परियोजना को शुरू करने के लिये 33 हजार करोड. रूपये की योजना ला रहे हैं।

यूपी की जनता ने परिवर्तन किया

उन्होंने कहा कि परिवारवाद, जातिवाद मत और मजहब के आधार पर समाज को बांटने वाली विघटनकारी शक्तियों यूपी में अभी तक राज कर रहीं थी। अब यूपी में नया विश्वास लागू हुआ है और लोगों को नजारिया बदला है। सरकार सुशासन के सपने को साकार करेंगी, यूपी की जनता ने परिवर्तन किया था।

विकास को अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाया

योगी ने कहा कि हमने विकास को अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाया है, सरकार ने टीम भावना के साथ काम किया है। प्रदेश को सुधारने के लिए एक साल पूरे नहीं हैं, क्योंकि प्रदेश में परिवारवाद, जातिवाद पूरे चरम पर था, लेकिन अब यह स्थिति बहुत तेजी से बदल रही है।

इन्वेस्टर्स समिट

वहीं इस अवसर पर राज्यपाल राम नार्इक ने कहा कि राज्यपाल केंद्र और राज्य के बीच एक सेतु का काम करता है। हमने पूर्ववर्ती सरकार में भी प्रयास किये थे लेकिन अब इस सरकार में जरूरत नही पड़ी। उन्होंने प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित इन्वेस्टर्स समिट को एक साहसिक कदम बताया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story