Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

उन्नाव गैंगरेप केस क्या है? जानें राजनीति का दंश झेल रही पीड़िता की पूरी कहानी, कब क्या-क्या हुआ

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में एक नाबालिग लड़की के साथ ब्लात्कार वाले मामले ने तूल पकड़ना शुरु कर दिया है। अब इस मुद्दे पर राजनिति गरमा गई है। लेकिन क्या आप जानते है कि कब से यह मामला योगी राज के दौरान चलता आ रहा है।

उन्नाव गैंगरेप केस क्या है? जानें राजनीति का दंश झेल रही पीड़िता की पूरी कहानी, कब क्या-क्या हुआ
X

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में एक नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार वाले मामले ने तूल पकड़ना शुरु कर दिया है। अब इस मुद्दे पर राजनिति गरमा गई है। विपक्षी पार्टियां योगी सरकार पर लगातार हमले बोल रही है।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने अभी तक आरोपी पर किसी भी प्रकार की कोई कार्रवाई नही की है। आरोपी उन्नाव जिले की बांगरमऊ विधानसभा सीट से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर है। अब इस मामले में राजनीति शुरु हो गई है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का कहना है कि "बेटी बचाओ, खुद मारे जाओ।" साथ ही राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में अपराधियों की जगह नारी आतंकित हो रही है।

बेटी बचाओ-खुद मारे जाओ

एक युवती भाजपा MLA पर बलात्कार का आरोप लगाती है| MLA को गिरफ्तार करने के बजाय पुलिस युवती के पिता को हिरासत में ले लेती है| उसके तुरंत बाद पुलिस कस्टडी में उनकी मृत्यु हो जाती है। वहीँ आरोपी भाजपा विधायक अभी भी खुले घूम रहे हैं।

राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना को काफी दुखद और दुर्भाग्यपुर्ण बताया है। अब इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है जो सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

आज जिस मुद्दे पर जनता में इतना आक्रोश है, मुद्दा सियासत से लबालब भरा है, जानिए उन्नाव गैंगरेप केस क्या है?

  • पिछले साल जून महीने में उन्नाव की रहने वाली 16 साल की लड़की ने भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसके साथियों पर बलात्कार का आरोप लगाया था।
  • जब लड़की ने इसकी शिकायत की तो अचानक से लड़की लापता हो गई, घरवालों ने शिकायत दर्ज कराई और करीब नौ दिनों बाद लड़की औरेंया में मिली।
  • पुलिस ने कोर्ट में लड़की को पेश कर बयान दर्ज कराया। पीड़िता ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि उसे अपने बयान में भाजपा विधायक का नाम नहीं लेने दिया गया।
  • इसके बाद लड़की का परिवार दिल्ली आया ताकि वह अपनी बेटी के साथ हुए अन्नाय को न्याय में बदल सकें। लड़की अपनी शिकायतें सीएम से लेकर राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों को भेजती रही, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।
  • जब परिवार की किसी ने नही सुनी तो इसी साल फरवरी महीने में पीड़िता की मां ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट का दरवाजा खटखटाया। इसके बाद 3 अपैल को पीड़िता की मां की अपील पर कोर्ट ने सुनवाई की।
  • परिवारवालों के मुताबिक उस शाम भाजपा विधायक के भाई अतुल सिंह ने अपने साथियों के साथ मिलकर लड़की के पिता को अवैध हथियार रखने के आरोप में गिरफ्तार किया। पीड़िता के पिता ने अतुल सिंह पर मारपीट करने का आरोप लगाया।
  • जब लड़की की नही सुनी गई तो उसने सीएम आवास के सामने आत्मदाह करने की कोशिश की। साथ ही विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की मांग की। तब इस मामले ने तूल पकड़ना शुरु किया और अब इसकी जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story