Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Varanasi Flyover Collapse Incident: कॉन्ट्रैक्टर्स के खिलाफ धारा 304, 308 और 427 के तहत केस दर्ज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कैंट एरिया से 100 मीटर की दूरी पर मंगलवार शाम पुल के दो स्लैब गिरने से एक झटके में कई गाड़ियां दब गई है। इसकी चपेट में आने से अब तक 18 लोगों की मौत हो चुकी है। इस मामले में पुलिस ने यूपी पुलिस ने सम्बंधित अधिकारीयों और कॉन्ट्रैक्टर्स के खिलाफ धारा 304, 308 और 427 के तहत केस दर्ज किया है।

Varanasi Flyover Collapse Incident: कॉन्ट्रैक्टर्स के खिलाफ धारा 304, 308 और 427 के तहत केस दर्ज
X

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कैंट एरिया से 100 मीटर की दूरी पर मंगलवार शाम पुल के दो स्लैब गिरने से एक झटके में कई गाड़ियां दब गई है। इसकी चपेट में आने से अब तक 18 लोगों की मौत हो चुकी है। इस मामले में पुलिस ने यूपी पुलिस ने सम्बंधित अधिकारीयों और कॉन्ट्रैक्टर्स के खिलाफ धारा 304, 308 और 427 के तहत केस दर्ज किया है।

पुल के गिरते ही मौके पर चीख-पुकार और अफरा तफरी मच गई। लोगों को बचने का जरा भी मौका नहीं मिला। हादसे में 20 से ज्यादा लोगों की मौत की खबर है। अभी 30 से ज्यादा लोगों के दबे होने की आशंका है। उन्हें निकालने का प्रयास जारी है। 18 शवों को निकाला जा चुका है। पुल के नीचे से निकालते समय कई शवों के चिथड़े उड़ गए हैं।

सड़कें जाम होने के कारण घायलों को अस्पताल पहुंचाने में भी मशक्कत करनी पड़ी। अभी भी कई वाहन मलबे में फंसे है। हादसे के बाद यूपी सरकार एक्शन में आ गई। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य आननफानन में वाराणसी पहुंचे और घटना स्थल का जायजा लिया। अस्पताल जाकर घायलों से मुलाकात की। इधर, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की भी वाराणसी के रवाना हुए।

रेस्क्यू में पुलिस, आर्मी, एनडीआरएफ की 7 टीमें जुटीं

इससे पहले वाराणसी जिला प्रशासन और पुलिस विभाग के आला अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे थे तब तक मौके पर मौजूद लोगों ने घायलों को बचाना शुरू किया। साथ ही यूपी पुलिस, आर्मी, एनडीआरएफ की 7 टीमों के जवान घायल लोगों को मलबे में से निकालने में जुटे हैं। घायलों को मंडलीय अस्पताल, कबीरचौरा और बीएचयू अस्पताल भेजा जा रहा है। घटनास्थल का नजारा बड़ा ही वीभत्स था। लाशें वाहनों में दबी हुई थी और उनके खून बह रहा था। अभी मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है। हालांकि अभी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है।

अस्पतालों को अलर्ट मोड पर

हादसे में घायलों की अधिक संख्या को देखते हुए अस्पतालों को अलर्ट पर रखा गया है। कबीरचौरा अस्पताल में डॉक्टरों और कंपाउंडरों की इमरजेंसी टीम तैनात किया गया है। इसके अलावा अस्पतालों में इमरजेंसी के मद्देनजर अतिरिक्ति ओटी की व्यवस्था की गई है। हादसे के कारण उधर जाने वाले वाहनों का रूट डायवर्ट किया गया है।

पीएम, ने जताया दुख

वाराणसी के दर्दनाक हादसे पर पीएम मोदी ने दुख जताया है। उन्होंने लिखा कि मैं प्रार्थना करता हूं कि घायल जल्द ही ठीक हो जाएं। साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अधिकारियों से बात की और मदद करने के निर्देश दिए हैं। बता दें कि लोकसभा चुनाव 2014 में वाराणसी से जीत हासिल करके सरकार बनाने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने काशी को क्योटो बनाने का वादा किया था। इस वादे के तहत पीएम ने वाराणसी को 21वीं सदी के लिए मॉर्डन स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद करते हुए शहर को जापान की धार्मिक राजधानी क्योटो की तर्ज पर विकसित करने का खाका तैयार किया गया था।

सीएम ने भेजे मंत्री, 5-5 लाख का मुआवजा

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दर्दनाक हादसे पर गहरा दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व मंत्री नीलकंठ तिवारी को मदद के लिए भेजा है। सीएम आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपए और घायलों के परिजनों को 2-2 लाख मुआवजे का ऐलान करने के साथ-साथ जांच के लिए उच्च स्तरीय कमेटी बनाने को कहा है। कमेटी को 48 घंटे में रिपोर्ट सौंपनी होगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story