Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

एक्शन में योगी सरकार- भ्रष्ट, नकारे और 50 के पार वाले पुलिस अफसर होंगे बाहर

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्णय हमेशा से चौकाने वाले रहे हैं। इन चौकाने वाले फैसलों में कई बार प्रदेश को फायदा होता है तो कई बार प्रदेश के ही कुछ लोगों पर गाज सरीखे होती है। ऐसा ही एक निर्णय सीएम योगी ने सोमवार को भी लिया है। प्रदेश के उन भ्रष्ट्राचार और नकारा अफसरों को जबरन रिटायर किया जाएगा जो 50 की उम्र पार कर चुके हैं।

एक्शन में योगी सरकार- भ्रष्ट, नकारे और 50 के पार वाले पुलिस अफसर होंगे बाहरUttar pradesh Yogi Sarkar will forcibly retire 50 year old corrupt and lazy police officer

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के निर्णय हमेशा से चौकाने वाले रहे हैं। इन चौकाने वाले फैसलों में कई बार प्रदेश को फायदा होता है तो कई बार प्रदेश के ही कुछ लोगों पर गाज सरीखे होती है। ऐसा ही एक निर्णय सीएम योगी ने सोमवार को भी लिया है। प्रदेश के उन भ्रष्ट्राचार और नकारा अफसरों को जबरन रिटायर किया जाएगा जो 50 की उम्र पार कर चुके हैं। ऐसे अफसरों, पुलिस वालों को पहचानने के लिए बकायदा टीम गठन की भी बात कही जा रही है।

एडीजी पीयूष आनंद ने पुलिस के सभी महकमें की सभी इकाईयों के प्रमुखों, एडीजी जोन व सभी आईजी रेंज को ऐसे पुलिस कर्मियों को चिन्हित करके एक सूची बनाने को कहा है और वह सूची इसी 30 जून को भेजने के लिए पत्र लिखा है। सीएम योगी के इस फैसले से उन पुलिस वालों पर गाज गिरना तय है जो अपने काम को लेकर आनाकानी करते हैं या फिर उनके खिलाफ जनता के साथ महकमें के लोंगों की भी शिकायत मिलती रही है।

बीते दिनों गृह विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान सीएम योगी ने महिला सुरक्षा समेत कई बड़े फैसले लिए। उन्होंने उसी बैठक में भ्रष्ट और नकारा अफसरों को जबरन सेवानिवृत्ति देने के निर्देश दिए। उनके इस आदेश पर अमल भी तुरंत किया गया। और एडीजी पीयूष आनंद ने स्क्रीनिंग कमेटी की रिपोर्ट तलब कर ली। जबरन रिटायरमेंट की सूची में उन लोगों को निशाने पर रखा गया है जो 31 मार्च 2019 को 50 वर्ष की आयु को पूरा कर चुके हैं।

उनके इस फैसले के बाद जाहिर तौर पर पुलिस महकमें पर असर पड़ेगा। पुलिस के कई आला अफसरों की माने तो इससे विभाग में हड़कम्प मच गया है। एक डबल स्टार पुलिस अधिकारी ने कहा कि युवा पुलिसकर्मियों से ज्यादा 50 की उम्र पार कर चुके पुलिस अधिकारी काम को लेकर सजग हो गए हैं। उन्हें अपनी नौकरी भ्रष्ट और नकारा बनकर नहीं छोड़नी है साथ ही उन्होंने कहा कि इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि कुछ लोगों को जबरन उलझाकर इस तरीके की कार्रवाई की जाए।

गौरतलब है कि देश का सबसे बड़ा राज्य होने के कारण उत्तर प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था हमेशा से चुनौती बनी रही है। प्रदेश के अलग अलग हिस्सों में हो रहे लूट, मर्डर ने हर बार सरकार को कठघरे में खड़ा किया है।

आगरा में बार काउंसिल की अध्यक्ष की हत्या हो या फिर प्रयागराज में वकील की दिनदहाड़े गोली मार कर हत्या। हर बार सवाल प्रशासन के साथ सरकार से भी पूछे जा रहे हैं। योगी आदित्यनाथ का नाम उन मुख्यमंत्रियों में शामिल किया जाता है जो तत्काल फैसला लेने में भरोसा करते हैं।

Share it
Top