Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गंगा जी को स्वच्छ बनाना हमारे जीवन का उद्देश्य होना चाहिएः योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गंगा सफाई को लेकर बड़ा कदम उठाने का प्रयास किया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि 15 दिसंबर के बाद किसी भी नाले का पानी गंगा में नहीं गिराया जाएगा।

गंगा जी को स्वच्छ बनाना हमारे जीवन का उद्देश्य होना चाहिएः योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गंगा सफाई को लेकर बड़ा कदम उठाने का प्रयास किया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि 15 दिसंबर के बाद किसी भी नाले का पानी गंगा में नहीं गिराया जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय में कानपुर एवं बिठूर के 20 घाटों के लोकार्पण समारोह में नमामि गंगे कार्यक्रम के अंतर्गत संबोधित कर रहे थे।

यह भी पढ़ेंः-DMK आपातकाल बैठकः 'कलैंगनार का अंतिम संस्कार मरीना बीच पर नहीं होता तो मैं भी मर जाता'

उन्होंने कहा कि गंगा को साफ करना हमारे जीवन का मिशन होना चाहिए। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताते हुए कहा, हम आदरणीय प्रधानमंत्री जी के

आभारी हैं जिन्होंने राष्ट्रीय गंगा नदी प्राधिकरण और नमामि गंगे परियोजना के माध्यम से 20 हजार करोड़ रुपये की एक परियोजना गंगा को निर्मल और अविरल बनाने के लिए दी है।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि कुंभ के मेले से पहले हर हाल में गंगा स्वच्छ हो जानी चाहिए। मैंने प्रदेश के अधिकारियों से कहा है कि हर हाल में बिजनौर से बलिया तक पवित्र गंगा नदी में जाने वाले सभी नालों के शोधन की तैयारी कर ली जाए। मैं आश्वस्त करता हूं कि 15 दिसंबर से कोई भी नाला गंगा नदी में नहीं जाएगा।

इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि गंगा को साफ करना आज भी हम सबके लिए चुनौती बनी हुई है। यदि हमें गंगा के निर्मल और अविरल बनाए रखना है तो गंगा जी की मूल धारा को यथावत बनाए रखते हुए उस पर कार्य करना होगा। एक बार गंगा जी अविरल हुई तो यह निर्मल भी होंगी। इस बाद को हमें समझना होगा।

हमने अफसरों के साथ मिल कर वृहद योजना तैयार की है। अधिकारी इस पर दिन-रात काम कर रहे हैं। यह काम काफी मुश्किल है लेकिन हमने गंगा स्वच्छता को चुनौती के रूप में स्वीकार किया है।

Next Story
Top