Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बीजेपी सांसद ने मोदी सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, लगाया आरक्षण खत्म करने की साजिश का आरोप

उत्तर प्रदेश के बहराइच से बीजेपी की सांसद सावित्री बाई फुले ने अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बीजेपी सांसद सावित्री बाई ने अपनी ही पार्टी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार आरक्षण को खत्म करने की साजिश कर रही है। सरकार पर विशेष जाति के लिए काम करने का लगाया आरोप।

बीजेपी सांसद ने मोदी सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, लगाया आरक्षण खत्म करने की साजिश का आरोप
X

उत्तर प्रदेश से बीजेपी के लिए एक ओर बुरी खबर आ रही है। बीजेपी के नेता अपनी ही सरकार से नीतियों से त्रस्त नजर आ रहे है। इस बार उत्तर प्रदेश के बहराइच से बीजेपी की सांसद सावित्री बाई फुले ने अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

बीजेपी सांसद सावित्री बाई ने अपनी ही पार्टी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार आरक्षण को खत्म करने की साजिश कर रही है। सावित्री ने कहा कि वह आरक्षण को लेकर सरकार के मनसुबों को पूरा नहीं होने देगी। और इसके लिए किसी भी बलिदान के लिए तैयार है।

सांसद सावित्री ने कहा कि मैं सरकार की नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन करूंगी। जिसके तहत मैं 1 अप्रैल से लखनऊ में प्रदर्शन करूंगी। सावित्री बाई फुले ने अपनी ही सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी के भीतर बहुत से ऐसे लोग है जो अब पार्टी में अपने आप को उपेक्षित महसूस कर रहे है।

ये भी पढ़ेःसब्सिडी लेने वाले खाता धारकों को 31 मार्च तक लिंक कराना होगा आधार, सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला

फुले ने इशारों में राज्य की योगी सरकार पर भी निशाना साधा कि राज्य की सरकार केवल एक विशेष जाति के प्रति ही लगाव रखती है। बता दे कि सावित्री बाई फुले पहली बीजेपी नेता नहीं है जिन्होंने अपनी ही सरकार के खिलाफ मुखर शब्दों में उसकी आलोचना की हो।

फुले से पहले एनडीए में शामिल सुहेलदेव पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर भी राज्य की योगी सरकार पर उनका और उनकी पार्टी की अनदेखी का लेकर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से शिकायत कर चुके है।

बाद में मामलें में अमित शाह के हस्तक्षेप के बाद ही राजभर ने उत्तरप्रदेश राज्यसभा उप-चुनाव में भाजपा के समर्थन के लिए राजी हुए थे। राजभर ने अमित शाह से मुलाकात और राज्यसभा उपचुनाव के बाद अपनी पार्टी की मीटिंग में करने के बाद मीडिया को बताया था कि वह बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के आगामी 10 अप्रैल को उत्तर प्रदेश के दौरे का इंतजार कर रहे है।

ये भी पढ़ेःजल्द ही बाजार में आएगा सोने-चांदी से बना 350 रुपए का सिक्का, जानिए इसकी खासियत

राजभर ने कहा था कि मुझे इंतजार है कि राज्यसभा उपचुनाव से पहले बीजेपी अध्यक्ष ने बदलाव को लेकर जो वादा किया था वो पूरा करते है या नहीं। गौरतलब है कि राजभर ने भी राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर ओबीसी समुदाय के नेताओं की अनदेखी करने का आरोप लगाया था।

ओपी राजभर के इलावा आजमगढ़ से बीजेपी के पूर्व सांसद रमाकांत यादव ने भी योगी सरकार की कार्यशैली ने नाराज होकर पार्टी आलाकमान को अपनी नाराजगी दर्ज कराई थी। रमाकांत यादव ने योगी आदित्यनाथ पर तंज कसते हुए कहा था कि पार्टी ने एक पुजारी को राज्य की सत्ता सौंप दी है।

रमाकांत ने कहा था कि योगी के बस की सरकार चलाना नहीं वो मंदिर में पूजा कर सकते है। यहीं नहीं रमाकांत ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर आरोप लगाया था कि योगी राज्य के दलितों और पिछड़ो को उनका हक नहीं दे रहे है। योगी केवल एक विशेष जाति की सेवा करने में व्यस्त है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story