Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

UP Board 2018: एसटीएफ ने 11 लोगों को किया गिरफ्तार, मुन्ना भाई बनकर दे रहे थे एग्जाम

उत्तर प्रदेश की बोर्ड परीक्षा के दौरान लगातार सरकार व प्रशासन की सख्ती जारी है। यूपी एसटीएफ ने बोर्ड की परीक्षा में नकल कराने में मदद करने वाले 11 लोगों को गिरफ्तार किया है।

UP Board 2018: एसटीएफ ने 11 लोगों को किया गिरफ्तार, मुन्ना भाई बनकर दे रहे थे एग्जाम
X

उत्तर प्रदेश की बोर्ड परीक्षा के दौरान लगातार सरकार व प्रशासन की सख्ती जारी है। यूपी एसटीएफ ने बोर्ड की परीक्षा में नकल कराने में मदद करने वाले 11 लोगों को गिरफ्तार किया है। इन लोगों पर आरोप है कि ये लोग परीक्षा के दौरान बच्चों को नकल कराने में मदद कर रहे थे।

यूपी बोर्ड की परीक्षा में इस बार प्रशासन ने काफी सख्ती कर रखी है, जिसके चलते बड़ी संख्या में छात्रों ने परीक्षा छोड़ दी है। यूपी बोर्ड की परीक्षा में इस बार सख्ती की वजह से तकरीबन 10 लाख बच्चों ने परीक्षा छोड़ दी है।

यह पहली बार है जब इतनी बड़ी संख्या में बच्चों ने बोर्ड की परीक्षा छोड़ी है। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उन्होंने परीक्षा व्यवस्था को बेहतर करने के लिए प्रशासन को निर्देश दिए हैं। जिसके बाद तकरीबन हर स्कूल में पुलिस के जवान मौजूद रहते हैं, जिसकी वजह से स्कूल में नकल करना आसान नही है।

इस बार यूपी बोर्ड की परीक्षा सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में हो रही है, जिसकी वजह से छात्रों के लिए नकल करना काफी मुश्किल है। आगरा में एक स्कूल के भीतर सामूहिक नकल की खबर सामने आने के बाद स्कूल के प्रिंसिपल को सस्पेंड कर दिया गया था।
यही नहीं स्कूल में नकल करते कई बच्चे पकड़े गए हैं जिन्हे परीक्षा देने से रोक दिया गया है। वहीं गोरखपुर में भी भाजपा नेता के स्कूल में चल रहा था नकल का रैकेट, जिसके बाद प्रधानाचार्य सहित 9 लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

यूपी बोर्ड परीक्षा में सुरक्षा प्रबंध

यूपी बोर्ड परीक्षाओं में इस बार कुल 106424 परीक्षार्थी शामिल होंगे। इनमें हाईस्कूल के 58019 व इंटरमीडिएट के 48405 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। डीआईओएस डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि रविवार को जीजीआईसी शाहमीना, दयानंद गर्ल्स कॉलेज और एमकेएसडी स्कूल का औचक निरीक्षण किया गया।
स्कूल प्रबंधन को निर्देश दिए गए कि वह प्रश्न-पत्र व कापियों को एक कमरे में रखें। उस कमरे में सील लगा होना चाहिए। यदि ऐसा नहीं किया जाता तो केंद्र व्यवस्थापक से लेकर प्रबंधन तक कार्रवाई की जाएगी।

तीन सदस्यीय कमेटी करेगी निगरानी

बोर्ड परीक्षाओं की कापियों व प्रश्न पत्रों से किसी तरह की छेड़छाड़ व गड़बड़ियां न हो इसलिए डीआईओएस ने केंद्र व्यवस्थापक को तीन सदस्यीय कमेटी गठन करने का आदेश दिया है। कमरा किस समय खुला, किसने और किस लिए खोला गया और कब बंद किया गया। यह सब एक रजिस्टर में दर्ज करना होगा। इस पर इन तीनों सदस्यों के हस्ताक्षर होंगे।

24 घंटे गार्ड की तैनाती

डीआईओएस ने सभी परीक्षा केंद्र व्यवस्थापकों व स्कूल प्रबंधन को एक पत्र जारी कर विशेष निर्देश दिए गए हैं। इसमें कहा गया है कि जिस कमरे में कापी व प्रश्न पत्र रखे गए उनकी निगरानी के लिए 24 गार्ड होना चाहिए।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story