Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rajya Sabha Election 2018: उत्तर प्रदेश से राज्यसभा चुनाव जीतने वाले बीजेपी के ये हैं 9 रत्न

उत्तर प्रदेश की 10 राज्यसभा सीटों के लिए भाजपा ने 9 उम्मीदवार मैदान में उतारे और सभी जीत दर्ज करने में सफल रहे।

Rajya Sabha Election 2018: उत्तर प्रदेश से राज्यसभा चुनाव जीतने वाले बीजेपी के ये हैं 9 रत्न
X

उत्तर प्रदेश की 10 राज्यसभा सीटों के लिए भाजपा ने 9 उम्मीदवार मैदान में उतारे और सभी जीत दर्ज करने में सफल रहे। यूपी से जीते बीजेपी के राज्यसभा सदस्यों में ब्राह्मण, दलित, वैश्य, ओबीसी और किसान हर जाति के लोग शामिल हैं।

हालांकि, सूबे में बीजेपी के लिए 9वें उम्मीदवार को जिताने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। लेकिन भाजपा की रणनीति के आगे सपा-बसपा सहित विपक्ष की एकजुटता काम नहीं आ सकी।

यह भी पढ़ें- चारा घोटालाः दुमका मामले में आज आएगा फैसला, लालू यादव सहित 19 को सुनाई जाएगी सजा

राज्यसभा चुनाव में जीतने वाले ये हैं बीजेपी के 9 रत्न

उत्तर प्रदेश की 10 राज्यसभा सीटों में बीजेपी के केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली, डॉ. अनिल जैन, विजय पाल सिंह तोमर, अशोक वाजपेयी, कांता कर्दम, डॉ. हरनाथ सिंह यादव, जीवीएल नरसिम्हा और सकलदीप राजभर के साथ 9वें उम्मीदवार के तौर पर अनिल अग्रवाल ने कामयाबी हासिल की है।

कांता कर्दम

BJP से राज्यसभा पहुंचने वाली कांता कर्दम दलित समुदाय नाता रखते हैं। ये पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ से हैं। कर्दम बीजेपी की महिला मोर्चा की सचिव और उपाध्यक्ष भी रही हैं। वहीं साथ ही संघ के संगठन सेवा भारती में काम कर चुकीं हैं।

पश्चिम यूपी को BSP का मजबूत गढ़ माना जाता है। कर्दम मायावती के जाटव समुदाय से हैं। कर्दम को बीजेपी ने मेरठ नगर निगम के चुनाव में भी उतारा था, लेकिन बीएसपी उम्मीदवार से मात खा गईं थीं। इसके साथ ही कर्दम हस्तिनापुर विधानसभा चुनाव भी लड़ चुकी हैं, लेकिन वहां भी वो हार गईं थी।

सहारनपुर में राजपूतों और दलित के बीच जातीय हिंसा BJP के लिए चिंता का सबब है। ऐसे में भाजपा ने कांता कर्दम को राज्यसभा भेजने का निर्णय लिया, जो कि माहौल को उनके पक्ष में करने में मददगार साबित हो सकता है।

अशोक बाजपेयी

भाजपा से राज्यसभा से पहुंचने वाले दूसरे उम्मीदवार डॉ. अशोक वाजपेयी हैं। वाजपेयी सूबे के 12 फीसदी वाले ब्राह्मण समुदाय से आते हैं। ये सपा के दिग्गज नेता रहे हैं। वाजपेयी सपा से बीजेपी में आए हैं।

इसके बाद उन्हें राज्यसभा के लिए टिकट दिया गया। अशोक वाजपेयी 1977 और 1985 में हरदोई में पीहानी से जनता पार्टी के विधायक चुने गए। साल 1989 में जनता दल से विधायक बने और इसके बाद 1993, 1996 और 2002 में सपा से विधायक रहे।

हरनाथ सिंह यादव

BJP ने सपा के मूल वोटबैंक यादव समुदाय को भी अपने पाले में लाने के लिए तहत हरनाथ सिंह यादव को राज्यसभा भेजा। हरनाथ मुलायम के मजबूत गढ़ इटावा मैनपुरी क्षेत्र से आते हैं।

साथ ही हरनाथ पूर्व सीएम कल्याण सिंह के करीबी माने जाते हैं। ये संघ के जिला प्रचारक रह चुके हैं। बीजेपी ने इन्हें 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में यादव बहुल मैनपुरी के प्रभारी के तौर पर जिम्मेदारी दी थी और इसी का ईनाम उन्हें राज्यसभा के तौर पर मिला है।

विजय पाल सिंह तोमर

BJP ने राज्यसभा चुनाव में राजपूत और किसान के वोटों को ध्यान में रखते हुए विजय पाल सिंह तोमर को राज्यसभा भेजने का फैसला किया। विजय पाल सिंह तोमर किसान नेता चौधरी चरण सिंह के साथ किसानों के लिए काम करते रहे थे।

सकलदीप राजभर

भाजपा ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के साथ-साथ पूर्वांचल को भी राज्यसभा चुनाव के जरिए साधने की कोशिश की है। इसी के तहत उसने सकलदीप राजभर को उच्चसदन भेजने का निर्णय लिया।

ऐसा माना जाता है कि सकलदीप राजभर, ओम प्रकाश राजभर के विकल्प के है। सकलदीप राजभर बलिया से नाता रखते हैं और प्रदेश की कार्यकारिणी के सदस्य हैं।

अरुण जेटली

अरुण जेटली बीजेपी के दिग्गज नेता और मोदी सरकार के मजबूत स्तंभ माने जाते हैं। अरुण जेटली केंद्रीय वित्त मंत्री है।

डॉ. अनिल जैन

यपी से राज्यसभा पहुंचने वालों में डॉ. अनिल जैन का भी नाम है। भाजपा के कोटे से वो राज्यसभा पहुंचे हैं। अनिल जैन पार्टी के राष्ट्रीय सचिव हैं। अनिल मध्य प्रदेश से आते है और पार्टी आलाकमान अमित शाह के करीबी माने जाते हैं।

जीवीएल नरसिम्हा

राज्यसभा पहुंचने वाले जीवीएल नरसिम्हा बीजेपी के प्रवक्ता हैं। ये हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा में पार्टी की बात को बहुत अच्छे तरीके से रखते हैं। ये दक्षिण भारत से आते हैं और पिछले काफी समय से पार्टी के प्रवक्ता पद की जिम्मेदारी को बखूबी निभा रहे हैं।

अनिल अग्रवाल

बीजेपी ने अपने मूल वोटबैंक वैश्य समुदाय का ध्यान रखते हुए भाजपा ने 9वें उम्मीदवार के रूप में अनिल अग्रवाल को राज्यसभा भेजने का फैसला किया है। अनिल अग्रवाल का पश्चिमी यूपी में इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट कॉलेज हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story