Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अयोध्‍या, मथुरा, वृंदावन और काशी के विश्वनाथ मंदिरों बम से उड़ाने की धमकी, प्रशासन सतर्क

काशी विश्‍वनाथ मंदिर समेत प्रमुख मंदिरों को बम से उड़ाने की धमकी से हड़कंप मच गया है।

अयोध्‍या, मथुरा, वृंदावन और काशी के विश्वनाथ मंदिरों बम से उड़ाने की धमकी, प्रशासन सतर्क

काशी विश्‍वनाथ मंदिर समेत प्रमुख मंदिरों को बम से उड़ाने की धमकी से हड़कंप मच गया है। रविवार को धमकी भरा पत्र सामने आने के बाद मंदिर परिसर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

मथुरा के मालगोदाम रोड पर जीआरपी बैरक की दीवार पर चार धमकी भरे पत्र चिपकाए गए थे। बैरक के पास सुबह एक दूधवाले ने दीवार पर पत्र देखकर इसकी जानकारी जीआरपी के अधिकारियों को दी।

एक पत्र में लिखा था कि 12 मई को काशी विश्‍वनाथ मंदिर को और 13 मई को मथुरा, वृंदावन, गोरखपुर और अयोध्‍या के मंदिरों को बम से उड़ा दिया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः वाराणसी: बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में कुछ छात्रों पर हमले के बाद झड़प, बढ़ी सुरक्षा

एसपी ज्ञानवापी शैलेंद्र राय ने बताया कि धमकी भरे पत्र के बारे में जानकारी मिलने पर काशी विश्‍वनाथ परिसर के रेड जोन में तैनात पुलिस, पीएसी और सीआरपीएफ के जवानों को विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया गया है।

खुफिया विभाग की टीमें शरारती तत्‍वों और संदिग्‍धों पर नजर रख रही हैं। ललिता घाट स्थित पशुपतिनाथ मंदिर पर भी सुरक्ष बढ़ा दी गई है। लोगों से भी संदिग्‍ध व्‍यक्ति पर नजर रखने और पुलिस को सूचना देने को कहा गया है।

यह भी पढ़ेंः AMU में जिन्ना की तस्वीर पर बढ़ा बवाल, कैंपस में कड़ी सुरक्षा, इंटरनेट सेवा बंद

मंदिर विवाद को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट में 10 को सुनवाई

गौरतलब है कि काशी विश्वनाथ मंदिर विवाद को लेकर दाखिल याचिका पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई 10 मई को होगी। हाईकोर्ट की जस्टिस संगीता चंद्रा की कोर्ट इस मामले पर सुनवाई करेगी।

इस याचिका के जरिए काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट और अंजुमन इस्लामिया वाराणसी के बीच मुकदमे में 1947 की स्थिति बहाल रखने एवं एक अंश ही मस्जिद रखने, शेष मंदिर के उपयोग में रहने के एडीजे वाराणसी के 23 सितम्बर 1998 और 10 अक्टूबर 1997 के आदेश को सुन्नी सेन्ट्रल बोर्ड ने हाईकोर्ट में चुनौती दी है।

(इनपुट-भाषा)

Next Story
Top