logo
Breaking

एयरपोर्ट पर अखिलेश को रोकने पर बोलीं मायावती, BJP सरकार की तानाशाही और लोकतंत्र की हत्या की प्रतीक

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को मंगलवार को लखनऊ एयरपोर्ट पर रोके जाने को लेकर बसपा की अध्यक्ष मायावती ने भाजपा पर निशाना साधा है। मायावती ने यूपी सरकार के इस कदम को लोकतंत्र की हत्या का प्रतीक बताया।

एयरपोर्ट पर अखिलेश को रोकने पर बोलीं मायावती, BJP सरकार की तानाशाही और लोकतंत्र की हत्या की प्रतीक

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को मंगलवार को लखनऊ एयरपोर्ट पर रोके जाने को लेकर बसपा की अध्यक्ष मायावती ने भाजपा पर निशाना साधा है। मायावती ने यूपी सरकार के इस कदम को लोकतंत्र की हत्या का प्रतीक बताया।

मायावती ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से लिखा, 'समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव को आज इलाहाबाद नहीं जाने देने कि लिये उन्हें लखनऊ एयरपोर्ट पर ही रोक लेने की घटना अति-निन्दनीय व बीजेपी सरकार की तानाशाही व लोकतंत्र की हत्या की प्रतीक।'
उन्होने दूसरे ट्वीट में लिखा कि क्या बीजेपी की केन्द्र व राज्य सरकार बीएसपी-सपा गठबंधन से इतनी ज्यादा भयभीत व बौखला गई है कि उन्हें अपनी राजनीतिक गतिविधि व पार्टी प्रोग्राम आदि करने पर भी रोक लगाने पर वह तुल गई है। अति दुर्भाग्यपूण। ऐसी आलोकतंत्रिक कार्रवाईयों का डट कर मुकाबला किया जायेगा।
वहीं टीएमसी की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की टिप्पणी भी सामने आयी है। ममता ने कहा, जिग्नेश को भी गुजरात के एक कार्यक्रम में जाने से रोका गया था। उन्हें भाजपा के गुंडों से खतरा था और वे हमें उपदेश देते हैं। वे घृणा की राजनीति में लिप्त हैं। हमारे राष्ट्र में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था। यह दुर्भाग्यपूर्ण है।
Share it
Top