Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

झांसी में हुई मुठभेड़ को सपा ने फर्जी बताया, आज पुष्पेंद्र के घर जाएंगे अखिलेश यादव

सपा ने मंगलवार को ट्वीट में कहा कि पुष्पेंद्र यादव का ज़बरन अंतिम संस्कार कर भाजपा सरकार ने साबित कर दिया है कि हत्या के आरोपियों को बचाने के लिए वह किसी भी हद तक जा सकती है। सपा की मांग है कि आरोपी एसएचओ पर भादसं की धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया जाए।

उत्तर प्रदेश :  अखिलेश यादव बोले- उत्तर प्रदेश जो uttar pradesh akhilesh yadav slams on yogi govt over law and order

उत्तर प्रदेश के झांसी में हुई मुठभेड़ को फर्जी बताते हुए समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने मंगलवार को मांग की है कि इसकी जांच उच्च न्यायालय के न्यायाधीश से कराई जाए व संबंधित पुलिस थानाध्यक्ष के खिलाफ युवक की हत्या को लेकर प्राथमिकी दर्ज की जाए।

सपा ने मंगलवार को ट्वीट में कहा कि पुष्पेंद्र यादव का ज़बरन अंतिम संस्कार कर भाजपा सरकार ने साबित कर दिया है कि हत्या के आरोपियों को बचाने के लिए वह किसी भी हद तक जा सकती है। सपा की मांग है कि आरोपी एसएचओ पर भादसं की धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया जाए।

साथ ही इस मामले की सीडीआर निकलवा कर उच्च न्यायालय के न्यायाधीश से जांच कराई जाये। पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव बुधवार को झांसी में मारे गये युवक के परिजनों से मिलने जायेंगे। झांसी पुलिस ने दावा किया था कि उसने पांच और छह अक्टूबर की रात कथित रूप से बालू खनन में शामिल पुष्पेंद्र यादव को जिला मुख्यालय से 80 किलोमीटर दूर गुरसराय इलाके में मुठभेड़ में मार गिराया।

पुलिस ने दावा किया था कि मुठभेड़ से कुछ घंटे पहले पुष्पेंद्र ने कानपुर झांसी राजमार्ग पर मोठ के थानाध्यक्ष धर्मेंन्द्र सिंह चौहान पर गोली चलाई थी। झांसी के पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह ने बताया कि पुष्पेंद्र यादव अवैध रूप से खनन कार्य में शामिल था व 29 सितंबर को थानाध्यक्ष द्वारा उसके कुछ ट्रक जब्त किये जाने के बाद उनसे उसकी कहासुनी भी हुई थी।

पुलिस के अनुसार, पुष्पेंद्र समेत तीन मोटरसाइकिल सवारों ने शनिवार रात को थानाध्यक्ष धर्मेंद्र और उसके सहयोगी को कानपुर झांसी राजमार्ग पर रोका। पुष्पेंद्र ने धर्मेंद्र पर गोली चलाई व उसकी कार लेकर चला गया। बाद में सुबह करीब तीन बजे गोरठा के पास पुलिस ने तीन लोगों को धर्मेंद्र की कार के साथ पकड़ा व इसी बीच हुई मुठभेड़ में पुष्पेंद्र मारा गया।

रविवार को पुष्पेंद्र यादव, विपिन व रविंद्र के खिलाफ मोठ और गुरसराय पुलिस थाने में दो अलग अलग प्राथमिकी दर्ज की गई। सपा ने मुठभेड़ को फर्जी बताते हुए आरोप लगाया कि पुष्पेंद्र को पुलिस ने उस समय मार डाला जब वह अपने ट्रक छुड़ाने थानाध्यक्ष के पास आया था।

Next Story
Share it
Top