Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

स्मार्टफोन ने बदल दी दुनिया, होना होगा पूरी तरह से सक्रियः आरएसएस चीफ

कानपुर प्रवास कार्यक्रम के चौथे दिन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) चीफ मोहन भागवत ने स्वयंसेवकों को सोशल मीडिया का भरपूर इस्तेमाल करने की सलाह दी।

स्मार्टफोन ने बदल दी दुनिया, होना होगा पूरी तरह से सक्रियः आरएसएस चीफ

कानपुर प्रवास कार्यक्रम के चौथे दिन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) चीफ मोहन भागवत ने स्वयंसेवकों को सोशल मीडिया का भरपूर इस्तेमाल करने की सलाह दी।

भागवत ने कहा, अखबार और पत्रिकाओं की पहुंच सीमित है लेकिन हर हाथ तक पहुंच चुके स्मार्टफोन ने दुनिया बदल दी है। ऐसे में इस ओर पूरी तरह से सक्रिय होना होगा। सोशल मीडिया पर पहुंची चीजें असर भी छोड़ती हैं। सोशल मीडिया साइट्स और यूट्यूब चैनल पर आरएसएस के लोग लंबे समय से सक्रिय हैं। हर जिले में इसके लिए स्वयंसेवकों के ग्रुप भी बनाए गए हैं।

आरएसएस से जुड़े सूत्रों के अनुसार, शुक्रवार को स्वयंसेवकों से बातचीत में भागवत ने कहा, पहले अखबारों और मैगजीनों की पहुंच सीमित थी लेकिन सोशल मीडिया के आने के बाद पहुंच बहुत ज्यादा बढ़ चुकी है। इन असरकारक माध्यमों पर हर स्वयंसेवक को सक्रिय होना होगा। इसे वैसे ही इस्तेमाल करना होगा, जैसे पर्यावरण संरक्षण, राष्ट्रवाद और गोरक्षा के लिए प्रयास किए गए हैं।

मोहन भागवत ने गिनाए सोशल मीडिया के फायदे
उन्होंने आगे कहा, तेज पहुंच के कारण सोशल मीडिया के जरिए आम लोगों से सीधे संवाद होता है। इस रास्ते से राष्ट्रवाद और सामाजिक समरसता का विस्तार किया जाए। अपने कामों को भी यहां पर दिखाना होगा।
बंद कमरों में हो रही संघ की मीटिंगों पर भागवत ने संदेश दिया कि आरएसएस ऐसा कुछ भी नहीं करता, जो लोगों को बताया न जा सके। उन्होंने कहा कि पत्रकार कभी चाहें तो आकर संघ की कार्यपद्धति को देखकर समझ सकते हैं।
मंदिर,श्मशान और जलाशयों पर पूरे हिंदू समाज का समान अधिकार
इससे पहले गुरुवार को भागवत ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिला प्रचारकों से कहा था, 'मंदिर, श्मशान और जलाशयों पर पूरे हिंदू समाज का समान अधिकार है। इसमें किसी किस्म का कोई भेदभाव नहीं किया जा सकता है। प्रचारक अपने स्तर पर लोगों को लगातार यह समझाएं ताकि जाति बंधन टूटे और दलित समाज से छुआछूत पूरी तरह खत्म हो।
Next Story
Top