Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बुलंदशहर / गोकशी के विरोध में हिंसा, इंस्पेक्टर की पीट-पीटकर हत्या, SIT करेगी जांच

यूपी के बुलंदशहर में कथित गोकशी के बाद गुस्साई भीड़ ने स्याना थाने के इंस्पेक्टर की पीट-पीटकर हत्या कर दी। प्रदर्शनकारियों ने सैकड़ों गाड़ियों में आग लगा दी और चौकी में भी आगजनी की। इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है।

बुलंदशहर / गोकशी के विरोध में हिंसा, इंस्पेक्टर की पीट-पीटकर हत्या, SIT करेगी जांच
X

यूपी के बुलंदशहर जनपद में सोमवार को कथित गोकशी के बाद गुस्साई भीड़ ने स्याना थाने के इंस्पेक्टर की पीट-पीटकर हत्या कर दी। प्रदर्शनकारियों ने सैकड़ों गाड़ियों में आग लगा दी और चौकी में भी आगजनी की। इस दौरान एक युवक की भी मौत हो गई। इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है।

मेरठ मंडल आयुक्त अनीता सी मेश्राम ने इस मामले में स्याना के कोतवाल सुबोध कुमार की मौत की पुष्टि की है। इस मामले में कथित तौर पर पुलिस की गोली से सुमित नाम के एक युवक की भी मौत होने की खबर है।

इसे भी पढ़ें- बुलंदशहर / अवैध बूचड़खानों पर कार्रवाई को लेकर पुलिस और लोगों में झड़प, इंस्पेक्टर की मौत

बुलंदशहर सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार थाना कोतवाली क्षेत्र के गांव महाव के जंगल में रविवार की रात अज्ञात लोगों ने कथित तौर पर करीब 25-30 गोवंश काट डाले। यह सूचना मिलने पर लोगों में आक्रोश फैल गया। गुस्साए लोग घटनास्थल पर पहुंचे और कथित तौर पर काटे गए गोवंश के गोवंश अवशेषों को ट्रैक्टर ट्रॉली में भरकर चिंगरावठी पुलिस चौकी पर पहुंचे।

गुस्साई भीड़ ने बुलंदशहर-गढ़ स्टेट हाईवे पर ट्रैक्टर ट्रॉली लगाकर रास्ता जाम कर दिया और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जोरदार नारेबाजी शुरू कर दी। सूचना मिलने पर एसडीएम अविनाश कुमार मौर्य और सीओ एसपी शर्मा पहुंचे। इसके बाद लोगों का गुस्सा भड़क गया और उन्होंने पुलिस पर पथराव करना शुरू कर दिया। बेकाबू भीड़ ने पुलिस के कई वाहन फूंक दिए।

साथ ही चिंगरावठी पुलिस चौकी में आग लगा दी। सूत्रों के अनुसार इस बीच पुलिस फायरिंग के दौरान चिंगरावठी निवासी सुमित को गोली लग गई। जिसको अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी मौत हो गई। इसके बाद भीड़ की पिटाई के कारण स्याना कोतवाल सुबोध कुमार गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां कुछ देर बाद उनकी मृत्यु हो गई।

इसे भी पढ़ें- तेलंगाना चुनाव/ कांग्रेस और टीआरएस एक ही सिक्के के दो पहलूः पीएम मोदी

बवाल की जानकारी मिलने पर स्याना सहित अहार, बुगरासी, बीबीनगर सहित आसपास के कई थानों का पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई। उधर, बुलंदशहर में इज्तेमा से लौट रहे हजारों वाहन भी हंगामे के कारण फंस गए। भीड़ ने इज्तेमा से लौट रहे युवकों से भी मारपीट की। फिलहाल ऐसे वाहनों का रूट डायवर्ट कर औरंगाबाद व जहांगीराबाद से निकाला गया। मौके पर एसपी और आला अधिकारी भारी पुलिस फोर्स के साथ मौजूद हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए मेरठ और आसपास के जनपदों की पुलिस बुलंदशहर भेजी जा रही हैं।

भीड़ ने मचाया तांडव

एडीजी आनंद कुमार ने बताया कि उत्तेजित भीड़ ने चौकी चिंगरावठी के बाहर खड़े वाहनों को डैमेज किया। तीन चार वाहनों में आग भी लगाई गई। पथराव के बीच पुलिस ने फायरिंग की, आंसू गैस के गोले छोड़े। ग्रामीणों ने कट्टे से फायरिंग की। हिंसा के दौरान इस्पेक्टर के सिर में इंजरी हुई, जिसके बाद थाने की गाड़ी में सुबोध कुमार को ले जाया गया, लेकिन ग्रामीण वहां भी आ गए और गाड़ी पर पथराव कर दिया।

कैसे हुई इंस्पेक्टर की मौत

एडीजी आनंद कुमार ने बताया कि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार के सिर में गहरा जख्म हुआ, जिससे काफी खूब बह गया था। डॉक्टरों ने प्रथम दृष्टया बताया कि संभवत: अधिक खून बहने से इंस्पेक्टर की मौत हुई। एडीजी ने बताया कि ब्लंट ऑब्जेक्ट से ये इंजरी हुई है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद मौत का कारण सामने आ पाएगा कि क्या गोली से उनकी मौत हुई है या नहीं।

युवक की भी मौत

एडीजी ने बताया कि इस संघर्ष के दौरान चिंगरावठी गांव के एक युवक सुमित को भी गोली लगी, जिसे मेरठ रेफर किया गया जहां उसकी दुखद मौत हो गई। उन्होंने कहा कि पीएम रिपोर्ट से ही पता चलेगा कि उनकी मौत पुलिस की गोली से हुई है या ग्रामीणों की लगी है। भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है।

जांच टीम गठित

आनंद कुमार ने बताया कि एडीजी इंटेलिजेंस मामले की जांच कर रहे हैं जो 48 घंटे में गोपनीय इंक्वायरी रिपोर्ट जमा करेंगे। गोकशी की घटना और हिंसा की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई है. दोनों केस रजिस्टर किए जा रहे हैं। एसआईटी में तीन-चार सदस्य होंगे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story