Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

प्रियंका गांधी चुनार गेस्ट हाउस में धरने पर बैठी, पीड़ित परिवार से मिलने पर अड़ी

उत्तर प्रदेश (पूर्व) की कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा वारणसी पहुंच गई हैं। यहां पहुंचकर सोनभद्र घायलों से मिली के लिए प्रियंका गांधी वाड्रा सीधे बीएचयू ट्रामा सेंटर पहुंची और घायलों से मुलाकता की।

प्रियंका गांधी चुनार गेस्ट हाउस में धरने पर बैठी, पीड़ित परिवार से मिलने पर अड़ी

पूर्वी उत्तर प्रदेश की कांग्रेस प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा वारणसी पहुंच गई हैं। यहां पहुंचकर सोनभद्र घायलों से मिली के लिए प्रियंका गांधी वाड्रा सीधे बीएचयू ट्रामा सेंटर पहुंची और घायलों से मुलाकात की। इसके बाद सोनभद्र जा रहे प्रियंका गांधी के काफिले को रोका गया है। वह जमीन विवाद को लेकर हुई गोलीबारी में मारे गए परिजनों से मुलाकात करने जा रही थी।

लाइव अपडेट..

- प्रियंका गांधी को रोके जाने के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने चेन्नई प्रदर्शन किया।

- प्रियंका गांधी चुनार गेस्ट हाउस में धरने पर बैठ गई हैं। प्रियंका का कहना है कि वे सोनभद्र पीड़ितों के परिवार से मिले बिना नहीं लौटूंगी।

- प्रियंका गांधी के हिरासत में लिए जाने पर राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए एक वीडियो शेयर किया है। राहुल गांधी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में प्रियंका गांधी को गैर-कानूनी तरीके गिरफ्तार करना विचलित करने वाला है। उन्हें मारे गए 10 आदिवासियों के परिवार जिन्होंने अपनी जमीन खाली करने से इनकार कर दिया था से मिलने से रोकना सत्ता का दुरुपयोग है। यह भाजपा सरकार की बढ़ती असुरक्षा का खुलासा करती है।

- ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा प्रियंका गांधी को सोनभद्र जाने से रोकना खुलेआम लोकतंत्र का अपमान है। पीड़ित परिवार से मिलना और संवेदना व्यक्त करना हर जनप्रतिनिधि का प्रथम कर्तव्य है, ऐसे में सरकार ने लोकतंत्र को कुचलने का प्रयास किया है जो अत्यंत निंदनीय है।

- उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी को पुलिस के द्वारा हिरासत में लिए जाने पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राज बब्बर ने कहा कि यह बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण है। संवेदनशील व्यक्ति को लोगों से मिलने से रोका गया है। प्रियंका गांधी शांतिपूर्ण तरीके से पीड़ित परिवार से मिलने के लिए जा रही थी।

- कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी प्रियंका गांधी वाड्रा की गिरफ्तारी को सत्ता की मनमानी करार दिया है।

- उत्तर प्रदेश के डीजीपी ने बयान दिया है कि प्रियंका गांधी वाड्रा को हिरासत में नहीं लिया गया है, केवल उन्हें रोका गया है।

- प्रियंका गांधी वाड्रा को पुलिस ने नारायणपुर में हिरासत में लिया वह सोनभद्र में गोलीबारी मामले के पीड़ितों से मिलने के लिए गई थीं जहां धारा 144 लगाई गई है। प्रियंका ने कहतीं हैं, मुझे नहीं पता कि वे मुझे कहां ले जा रहे हैं, हम कहीं भी जाने के लिए तैयार हैं।

- खबर है कि प्रियंका गांधी को हिरासत में लेकर चुनार गेस्ट हाउस ले जाया जा रहा है।

- प्रियंका गांधी को सरकार गाड़ी में ले जाया जा रहा है, लेकिन जानकारी नहीं है उन्हें कहां ले जाया जा रहा है।

- मैं शांतिपूर्ण तरीके से पीड़ित परिवार से मिलना चाहती हूं, हम किसी भी कीमत पर झुकेंगे नहीं। पुलिस प्रशासने प्रियंका गांधी को धरने से हटा दिया है।

- काफिले को रोके जाने पर प्रियंका गांधी पूछा है कि मुझे सोनभद्र क्यों नहीं जाने दिया जा रहा? मुझे पड़ित परिवार के लोगों से मिलना है, दस लोगों की हत्या की गई हैं। मुझे आदेश दिखएं क्यों रोगा गया है। मैंने यहां तक कहा कि मेरे साथ केवल चार लोग जाएंगे। प्रशासन हमें वहां जाने नहीं दे रहा है। काफिले को रोके जाने पर प्रियंका गांधी सड़क पर ही धरने पर बैठ गई हैं। प्रशासन ने सुरक्षा काफिले को रोकने के लिए सुरक्षा कारणों का हवाला दिया है। खबरों के मुताबिक लेकिन राज्य सरकार की और से कोई आदेश नहीं आया है।

- सोनभद्र जा रहे प्रियंका गांधी के काफिले को रोका गया है। काफिला नाराणपुर चौकी के पास रोका गया है पर यह जानकारी नहीं मिली कि क्यों रोका गया है।

- बीएचयू ट्रामा सेंटर में घायलों से प्रियंका गांधी कर रही हैं मुलाकत।

- प्रियंका गांधी वाड्रा जमीन विवाद में घायल हुए लोगों से मिलने के लिए बीएचयू ट्रामा सेंटर पहुंच गई हैं।

- कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा वारणसी पहुंच गई हैं, यहां पर वे सोनभद्र में जमीन विवाद को लेकर हुई गोलीबारी में मारे गए परिजनों से मुलाकात करेंगी।

बता दें कि 17 जुलाई को सोनभद्र में घोरावल तहसील के उभ्भा गांव में जमीन पर करने के लिए 32 ट्रैक्टर-ट्रालियों में भरकर प्रधान समेत 300 लोग पहुंचे थे। कब्जे को लेकर हुए हिंसक झड़प हो गई थी। झड़प ने इतना तूल पकड़ा की गोलीबारी शुरू हो गई। गोलीबारी में 10 लोगों की मौक हो गई थी जबकि कई अन्य लोग घायल हुए थे।

पुलिस ने इस मामले में अबतक 26 लोगों की गिरफ्तार किया है और 28 लोगों को नामजद किया है और 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। कानून व्यवस्था के मुद्दे पर विपक्षी दल यूपी की योगी आदित्यानाथ की सरकार पर हमलावर हैं।

Share it
Top