Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

उत्तर प्रदेशः PM मोदी ने कुंभ में लगाई डुबकी, सफाई कर्मचारियों के पैर धोए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुंभ आज उत्तर प्रदेश के दौरे पर है। गोरखपुर के बाद प्रधानमंत्री मोदी कुंभ में शामिल होने के लिए प्रयागराज पहुंचे हैं यहां संगम पर उन्होंने डुबकी भी लगाई। प्रधानमंत्री मोदी पवित्र संगम पर पूजा कर रहे हैं।

उत्तर प्रदेशः PM मोदी ने कुंभ में लगाई डुबकी, सफाई कर्मचारियों के पैर धोए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुंभ आज उत्तर प्रदेश के दौरे पर है। गोरखपुर के बाद प्रधानमंत्री मोदी कुंभ में शामिल होने के लिए प्रयागराज पहुंचे हैं यहां संगम पर उन्होंने डुबकी भी लगाई। प्रधानमंत्री मोदी पवित्र संगम पर पूजा कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने संगम क्षेत्र को दुग्धाभिषेक घोषित किया। इस दौरान उन के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद हैं। प्रधानमंत्री मोदी यहां लोगों को संबोधित करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां सफाई कर्मियों के पैर भी धोए और उनका सम्मान किया।

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने गोरखपुर पहुंकर किसान सम्मान निधि योजना लॉन्च की और किसानों के खाते में 2000 रुपए की पहली किश्त भी जारी की।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कृषि ऋण में छूट की सीमा एक वर्ष से बढ़ाकर 3 से 5 वर्ष कर दी गई है। अगर किसान कर्ज का भुगदान समय पर करते हैं तो उन्हें ब्याज दर में तीन प्रतिशत का अतिरिक्त छूट मिलेगा। अब किसान भाई, किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए 1 लाख 60 हजार रुपए तक का कर्ज, बिना बैंक गारंटी ले पाएंगे।

नीचे पढ़ें प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन की मुख्य बातें-

  • प्रयागराज में जब कुम्भ लगता हैं तो सारा प्रयागराज ही कुम्भ हो जाता हैं। यहां के निवासी भी श्रद्धेय हो जाते है, प्रयागराज को एक खूबसूरत शहर के रूप में विकसित करने में और कुम्भ के सफल आयोजन करने में यहां के निवासियों ने भी पूरे देश को एक प्रेरणा दी है।
  • कुम्भ में उत्तर प्रदेश पुलिस ने जो भूमिका निभाई है उसकी भी चर्चा काफी हो रही है। आपका खोया-पाया विभाग तो बच्चों, बुजुर्गों को अपनों से मिला देता है। आपने अपने काम गंभीरता से किए हैं। इसलिए सुरक्षा में लगे लोग भी अभिनंदन के अधिकारी हैं।
  • पिछली बार मैं जब यहां आया था तो मैंने कहा था कि इस बार का कुंभ अध्यात्म, आस्था और आधुनिकता की त्रिवेणी बनेगा। आज मुझे खुशी है कि आपने अपनी तपस्या से इसको साकार किया है। तपस्या को तकनीक से जोड़कर जो अद्भुत संगम बनाया गया, उसने भी सभी का ध्यान खींचा है।
  • आजादी के बाद से हमेशा अक्षय वट को किले में बंद कर के रखा जाता था लेकिन अब अक्षय वट को सभी के लिए खोल दिया गया है। मुझे बताया गया है कि रोज लाखों लोग अक्षय वट और सरस्वती कूप के दर्शन कर पा रहे हैं।
  • नमामि-गंगे के लिए अनेक स्वच्छाग्रही तो योगदान दे ही रहे हैं, आर्थिक रूप से भी मदद कर रहे हैं। मैंने भी इसमें छोटा सा योगदान किया है। सियोल पीस प्राइज़ के तौर पर मुझे जो 1.30 करोड़ रुपए की राशि मिली थी, उसको मैंने नमामि-गंगे मिशन के लिए समर्पित कर दिया है।
  • मैं पहले भी प्रयागराज आता रहा हूं, लेकिन गंगा जी की इतनी निर्मलता पहले नहीं देखी है। गंगाजी की ये निर्मलता नमामि-गंगे मिशन की दिशा व सरकार के सार्थक प्रयासों का उदाहरण है। इस अभियान के तहत प्रयागराज में गंगा में गिरने वाले 32 नाले बंद कराए गए हैं।

Next Story
Top