Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बुलंदशहर हिंसा / कानून-व्यवस्था अच्छी लेकिन ''इज्तेमा'' की वजह से हुई हिंसा

बुलंदशहर में हिंसा को लेकर बीजेपी के सांसद भोला सिंह ने कहा कि यहां आमतौर पर कानून और व्यवस्था अच्छी है लेकिन पुलिसवालों को ''इज्तेमा'' के बारे में अंधेरे में रखा गया था जिसके कारण यह घटना हुई।

बुलंदशहर हिंसा / कानून-व्यवस्था अच्छी लेकिन

बुलंदशहर में भीड़ के द्वारा हुई हिंसा के बाद अब इसपर राजनीति भी गर्म होने लगी है। इसी कड़ी में बुलंदशहर से बीजेपी के सांसद भोला सिंह ने कहा कि यहां आमतौर पर कानून और व्यवस्था अच्छी है लेकिन पुलिसवालों को 'इज्तेमा' (इस्लामिक धार्मिक कार्यक्रम) के बारे में अंधेरे में रखा गया था जिसके कारण यह घटना हुई। यह अराजकता का कारण बनता है। यह इस हिंसा का कारण है।

इससे पहले भाजपा सांसद ने एक टीवी चैनल से बात करते हुए कहा कि सोमवार को गाय कटने के कुछ अवशेष बरामद हुए थे, जिसके कारण लोगों में गुस्सा था। यही कारण रहा कि लोगों ने वहां जाम लगाया, आक्रोश हुआ तो पुलिसवालों ने लाठीचार्ज किया।
भोला सिंह ने कहा कि इसी दौरान वहां गोली चली और लड़के की मौत हो गई, पुलिसवाला भी घायल हुआ है। जो भी घटना हुई है उसके लिए एसआईटी का गठन किया गया है, रिपोर्ट सामने आने से सारा खुलासा होगा। बीजेपी सांसद ने कहा कि स्थानीय प्रशासन ने उन्हें अभी वहां आने से मना किया है, क्योंकि ऐसे में आक्रोश अधिक हो सकता है।
बता दें कि सोमवार की देर रात बुलंदशहर में हिंसा हुई। भीड़ ने यहां एक पुलिसकर्मी सुबोध कुमार और एक आम नागरिक को मौत के घाट उतार दिया। इस मामले में पुलिस जांच कर रही है। पुलिस ने रातभर महाव और चिंगरावठी गांव में छापेमारी।
जानकारी के मुताबिक पुलिस ने स्याना क्षेत्र से 3 लोगों को गिरफ्तार किया है, इनसे पूछताछ की जा रही है। जबकि 4 लोगों की हिरासत में लिया गया है। पुलिस चश्मदीदों और सामने आई वीडियो-तस्वीरों के आधार पर छापेमारी कर रही है।
महाव और चिंगरावठी, दोनों ही गांव घटनास्थल के नजदीक के गांव हैं। कहा जा रहा है कि जो 400-500 लोगों की भीड़ आई थी वह इन्हीं गांवों से आई थी। इस मामले में 75 लोगों पर केस दर्ज किया गया है। 25 लोगों को नामजद किया गया है। पुलिस की कुल 6 टीमों ने 22 ठिकानों पर छापेमारी की है।
Next Story
Top