Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शाहजहांपुर में बोले पीएम मोदी, लोकसभा में अविश्वास का कारण नहीं बता पाए तो गले पड़ गए

हैं। पीएम मोदी ने कहा कि कुछ दिन पहले कुछ गन्ना किसान मुझसे मिलने दिल्ली आए थे और मैंने उनसे कहा था कि जल्द ही गन्ना किसानों को एक खुशखबरी सुनने को मिलेगी और वही वादा निभाने मैं शाहजहांपुर आया हूं।

शाहजहांपुर में बोले पीएम मोदी, लोकसभा में अविश्वास का कारण नहीं बता पाए तो गले पड़ गए
X

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विशाल किसान कल्याण रैली को संबोधित कर रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि कुछ दिन पहले कुछ गन्ना किसान मुझसे मिलने दिल्ली आए थे और मैंने उनसे कहा था कि जल्द ही गन्ना किसानों को एक खुशखबरी सुनने को मिलेगी और वही वादा निभाने मैं शाहजहांपुर आया हूं।

उन्होंन आगे कहा कि हमारी सरकार ने यह फैसला किया है कि देश के गन्ना किसानों को गन्ने पर लागत मूल्य के ऊपर लगभग 80 प्रतिशत सीधा लाभ मिलेगा। धान, मक्का, दाल और तेल वाली 14 फसलों के सरकारी मूल्य में 200 रुपये से 1800 रुपये कि बढ़ोतरी देश के इतिहास में कभी नहीं हुई है।

उन्होंने आगे कहा कि सरकार ने गन्ना की बिक्री का लाभकारी 275 रुपये क्विंटल कर दिया गया है, चीनी के उत्पादन में वृद्धि को देखते हुए ये मूल्य 10 प्रतिशत रिकवरी पर तय किया गया है।

पीएम मोदी ने विपक्ष पर तंज कसते हुए कहा कि आज जो किसानों के लिए घड़ियाली आंसू बहा रहें है उनके पास भी ये काम करने का मौका था लेकिन उनके पास किसानों के लिए कार्य करने की फुर्सत नहीं थी।

उन्होंने आगे कहा कि देश के हर किसान के पसीने का, श्रम का सम्मान हो, यही केंद्र की सरकार, उत्तर प्रदेश की सरकार की प्राथमिकता है। यही कारण है कि देश के गन्ना किसान परिवारों के हित में हाल में अनेक फैसले लिए गए हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि चीनी के आयत पर 100 प्रतिशत शुल्क लगाया गया है, 20 लाख टन चीनी निर्यात करने की अनुमति दे दी गयी है और चीनी के लिए एक न्यूनतम मूल्य तय किया गया है ताकि चीनी मिल नुकसान का बहाना ना बना पाएं। प्रति क्विंटल पर 5.50 रुपये की अतिरिक्त मदद सीधे किसानों के खाते में जमा की जा रही है।

यह भी पढ़ें- सीएम योगी का दावा, अविश्वास प्रस्ताव गिरने से साफ हो गया है, 2019 में फिर से बनेगी बीजेपी की सरकार

हमारा निरंतर प्रयास है कि गन्ना किसान की एक-एक पाई उस तक समय पर पहुंचे। पुरानी सरकारों ने दशकों से जो व्यवस्थाएं बना रखी थीं, जो गठजोड़ बना रखे थे, उनको तोड़ा जा रहा है। पहले की सरकारों ने जो हज़ारों करोड़ का बकाया छोड़ रखा था उसको निश्चित समय सीमा में निपटाया गया।

जब आवश्यकता से अधिक चीनी की पैदावार होती है तो किसानों का पैसा फंस जाता है। सरकार ने फैसला लिया कि गन्ने से सिर्फ चीनी ही पैदा ना हो बल्कि इससे गाड़ियों के लिए ईंधन भी बने। इसके लिए गन्ने से इथेनॉल बनाने और उसे पेट्रोल में मिक्स करने का निर्णय लिया गया।

पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने देश की जनता को अंधेरे में रखा आज हम उनके घरों में उजाला पहुंचा रहें है। पीएम मोदी ने संसद में दिए गए राहुल गांधी के भाषण पर कहा कि कल देश की जनता ने देखा कि कुछ लोगों को प्रधानमंत्री की कुर्सी के अलावा कुछ नहीं दिखता है, उन्हें ना देश दिखता है ना देश का गरीब दिखता है।

पीएम मोदी ने कहा कि मेरा गुनाह यही है कि मैं भ्रष्टाचार और परिवारवाद के खिलाफ लड़ रहा हूं। कल लोकसभा में हम ये उनसे लगातार पूछते रहे कि इस अविश्वास का कारण क्या है, अब जब वो कारण नहीं बता पाए तो गले पड़ गए।

विपक्षी दलों पर तंज कसते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अहंकार, दंभ और दमन के संस्कार आज का युवा भारत सहने को तैयार नहीं है। चाहे साइकिल हो या हाथी, कोई भी हो साथी, स्वार्थ के इस पूरे स्वांग को देश समझ चुका है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story