Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

उत्तर प्रदेशः हिंदू-मुस्लिम दंपति मामले में आरोपी ने तनवी सेठ पर फर्जी नाम के इस्तेमाल का लगाया आरोप

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में मुस्लिम दंपति के साथ धर्म के नाम पर हुई बदसलूकी के मामले में आरोपी अधिकारी ने पीड़ित महिला पर दूसरे नाम से पासपोर्ट बनवाने का लगाया आरोप।

उत्तर प्रदेशः हिंदू-मुस्लिम दंपति मामले में आरोपी ने तनवी सेठ पर फर्जी नाम के इस्तेमाल का लगाया आरोप
X

तनवी सेठ पासपोर्ट मामले में आरोपी अधिकारी विकास मिश्रा ने इस मामले को लेकर सफाई दी है। लखनऊ पासपोर्ट दफ्तर में कार्यरत आरोपी अधिकारी विकास मिश्रा ने बयान जारी कर कहा कि उसने तनवी सेठ को शादिया नाम रखने लिखने को कहा था जो कि उसके निकाहनामा से जुड़े दस्तावेजों में मौजूद है।

लेकिन तनवी ने इसे मानने से इंकार कर दिया। आरोपी अधिकारी ने अपनी सफाई में कहा कि हमें हमेशा से ही इस बात की जांच करनी होती है कि कहीं कोई व्यक्ति पासपोर्ट हासिल करने के लिए फर्जी नाम का तो इस्तेमाल नहीं कर रहा है। आपको बता दे कि इस मामले के संज्ञान में आने के बाद आरोपी अधिकारी का तबादला कर दिया गया है मामले की जांच के आदेश दे दिए गए है।

तनवी सेठ पासपोर्ट मामले में पीड़िता के पति मोहम्मद अनस सिद्दिकी का कहना है कि मुझे कहा गया था कि मुझे अपना धर्म बदल लेना चाहिए और हिंदू रीति-रिवाज के अनुसार एक बार फिर से फेरे लेकर शादी करनी चाहिए।

वहीं इस मामले में पीड़ित महिला ने कहा कि मुझे पूरी उम्मीद है कि देश में कहीं और ऐसा किसी के साथ ना हो। पीड़िता ने कहा कि अपनी ग्यारह साल की शादी में हमारे साथ ऐसा कभी-भी नहीं हुआ है। महिला ने बताया कि बाद में आरोपी पासपोर्ट अधिकारी ने हमसे इस मामले को लेकर माफी भी मांगी है। और अब हमें अपने नए पासपोर्ट भी मिल गए है।

तनवी सेठ पासपोर्ट मामले में लखनऊ पासपोर्ट सेंटर के वरिष्ठ अधिकारी ने इस मामले में जल्द कार्रवाही करते हुए मुस्लिम दंपती के पासपोर्ट जारी कर दिए है। अधिकारी ने बताया कि उन लोगों के पासपोर्ट जरूरत के हिसाब से जारी हो गए है।

इसके साथ है पासपोर्ट अधिकारी ने बताया कि आरोपी अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है जांच के आदेश दे दिए गए है। अधिकारी के मुताबिक दोषी पाए जाने पर आरोपी पासपोर्ट अधिकारी के खिलाफ जल्द से जल्द सख्त कार्रवाई भी की जाएगी। वहीं वरिष्ठ अधिकारी ने इस मामले को लेकर खेद जताया है और आश्वासन दिलाया कि आगे से भविष्य में कभी ऐसी गलती दोबारा नहीं होगी।

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर से विशेष समुदाय से संबंध रखने के कारण एक महिला और उसके पति से साथ दुर्रव्यवहार का मामला सामने आया है। मामला उत्तर प्रदेश के लखनऊ का है जहां पर एक महिला ने पासपोर्ट अधिकारी पर उसके साथ बदसलूकी करने का आरोप लगाया है।

महिला का आरोप है कि पासपोर्ट अधिकारी ने पीड़ित महिला के साथ इसलिए दुर्रव्यवहार किया क्योंकि पीड़ित महिला ने एक मुस्लिम समुदाय के लड़के से शादी की थी और उसने शादी के बाद अपना नाम नहीं बदला था।

बता दे कि पीड़ित महिला ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को इसे लेकर शिकायत भी दर्ज कराई है। पीड़ित तनवी सेठ ने विदेश मंत्री सुषमा को लिखी शिकायत में बताया कि यह बिल्कुल ही अमानवीय अनुभव था, पीड़िता ने आरोप लगाया कि आरोपी पासपोर्ट अधिकारी ने उससे काफी ऊंची आवाज में बदसलूकी से ना केवल बात की ब्लकि कथित अधिकारी ने लगभग पीड़िता के ऊपर हाथ तक ऊठाने के लिए तैयार हो गया था।

इस मामले में पीड़िता के पति मोहम्मद अनस सिद्दकी ने कहा कि हमारे पास पासपोर्ट के आवेदन के लिए सभी जरूरी कागजात मौजूद है। अनस ने कहा कि हमने सुषमा स्वराज जी को इस संबंध में शिकायत दर्ज कर की है और हमें लखनऊ के पासपोर्ट दफ्तर में संबंधित अधिकारियों से मिलने के लिए कहा गया है।

आपके बता दे कि अनस और तनवी की शादी 2007 में हुई थी और उनकी एक छह साल की बच्ची भी है। तनवी का आरोप है कि कल यानी बुधवार को वह जिला पासपोर्ट दफ्तर गई थी जहां पासपोर्ट अधीक्षक विकास मिश्र ने उनको धर्म के नाम पर अपमानित किया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story