Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कुंभ मेला 2019: भव्य और दिव्य कुंभ की लग्जरी टेंट नगरी में 600 कुटियां, रात बिताने पर लगते 12000 से 41000

कुम्भ मेला (Kumbh Mela) कितना भव्य और दिव्य है, यह उल्टा किला से स्पष्ट दिखाई देता है। झूंसी स्थित उल्टा किला की इसी विशेषता को ध्यान में रखकर ‘‘दि अल्टिमेट ट्रैवेलिंग कैंप'''' (टीयूटीसी) ने अपनी टेंट नगरी ‘‘संगम निवास'''' यहां बसाई है। वर्तमान में संगम निवास के टेंट 60 प्रतिशत तक बुक हैं और आगामी दिनों में बुकिंग 80 प्रतिशत तक पहुंचने की संभावना है।

कुंभ मेला 2019: भव्य और दिव्य कुंभ की लग्जरी टेंट नगरी में 600 कुटियां, रात बिताने पर लगते 12000 से 41000
X
कुम्भ मेला (Kumbh Mela) कितना भव्य और दिव्य है, यह उल्टा किला से स्पष्ट दिखाई देता है। झूंसी स्थित उल्टा किला की इसी विशेषता को ध्यान में रखकर ‘‘दि अल्टिमेट ट्रैवेलिंग कैंप' (टीयूटीसी) ने अपनी टेंट नगरी ‘‘संगम निवास' यहां बसाई है। वर्तमान में संगम निवास के टेंट 60 प्रतिशत तक बुक हैं और आगामी दिनों में बुकिंग 80 प्रतिशत तक पहुंचने की संभावना है।
इसी तरह 900 वर्ग फीट फैली इंदिराप्रस्थानम, वैदिक टेंट सिटी और हितकारी जैसी कंपनियों के 50 फीसदी से अधिक टेंट बुक हैं। इस बार कुंभ नगरी में 200 लग्जरी और 250 डिलक्स टेंट सहित 600 वीआईपी कॉटेज टेंट हैं। इनका टेंट की साइज, सुविधा के अनुसार एक रात किराया 12 हजार से लेकर 35 हजार तक हैं।
यहीं नहीं टीयूटीसी की विशेष कोटेज का किराया 41 हजार तक बताया गया है। यहां इन सर्वसुविधायुक्त कुटियों में आने वाले वीआईपी अतिथियों में 50 प्रतिशत विदेशी मेहमान हैं जिसमें अमेरिका, ब्रिटेन, तुर्की, यूरोप, सिंगापुर से हैं।

इन सुविधाओं के चलते रुके हैं विदेशी मेहमान

“टीयूटीसी सहित दूसरी कंपनियां भी यहां आने वाले मेहमानों को योग, आरती, स्नान घाट, बोट सर्विस, साइक्लिंग, वाटर स्पोर्ट्स और नेचुरोपैथी, कॉफी लॉउन्ज की सुविधाएं तो दे रही हैं इसके अलावा आध्यात्मिक साधुओं से बातचीत, मेले और अखाड़ों का भ्रमण आदि शामिल है।
साथ ही विशेष हवन यज्ञ की व्यवस्था भी कंपनियां करा रही हैं। वहीं व्यक्तिगत सुविधाओं की बात करें तो टेंट सिटी में एलईडी टीवी, शाकाहारी फूड कोर्ट, वाईफाई, सीसीटीवी, 24 घंटे 7 दिन गेस्ट सर्विसेज, भजन संध्या जैसे कार्यक्रम भी शामिल हैं।

टीयूटीसी के दो तरह के टेंट

टीयूटीसी के मुख्य परिचालन अधिकारी रजनीश सभरवाल ने बताया कि संगम निवास में हमने हमारे अतिथियों के लिए दो तरह के टेंट- लग्जरी और सुपर लग्जरी डीलक्स टेंट स्थापित किए हैं जो आधुनिक सुविधाओं से युक्त हैं।
सभरवाल ने बताया कि कुम्भ मेला एक आध्यात्मिक मेला है इसे ध्यान में रखते हुए उनकी कंपनी इस टेंट नगरी में अतिथियों को केवल शुद्ध सात्विक भोजन की पेशकश कर रही है और अल्कोहल एवं मांसाहार, संगम निवास परिसर में पूरी तरह से निषिद्ध है।
संगम निवास में मेहमानों का ख्याल रखने के लिए 100 से अधिक कर्मचारी लगाए गए हैं। उन्होंने बताया कि हमने हाल ही में नागालैंड में हुए हॉर्नबिल फेस्टिवल में 12 कैंप लगाए थे जहां ऑक्यूपेंसी रेट 100 प्रतिशत रही।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story