Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

उन्नाव गैंगरेप केस: कुलदीप सिंह सेंगर बोले- मैं भगोड़ा नहीं हूं, बताइये क्या करूं

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने उन्नाव बलात्कार मामले की जांच सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है। सेंगर ने कहा कि मैं यहां मीडिया के समक्ष आया हूं। मैं भगोडा नहीं हूं। मैं यहां राजधानी लखनऊ में हूं। बताइये क्या करूं।

उन्नाव गैंगरेप केस: कुलदीप सिंह सेंगर बोले- मैं भगोड़ा नहीं हूं, बताइये क्या करूं
X

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने उन्नाव बलात्कार मामले की जांच सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है। जिसमें भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का नाम मुख्य आरोपी के रूप में शामिल है। यह कदम ऐसे में समय आया जब सेंगर नाटकीय ढंग से पुलिस के सामने पेश हुए, लेकिन समर्पण करने से मना कर दिया।

सेंगर कल देर रात अचानक राजधानी में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के आवास के बाहर दिखे। खबर थी कि वह आत्मसमर्पण करेंगे लेकिन वह बिना आत्मसमर्पण के ही समर्थकों के साथ निकल गये। सेंगर ने पीटीआई भाषा से कहा कि मैं यहां मीडिया के समक्ष आया हूं। मैं भगोडा नहीं हूं। मैं यहां राजधानी लखनऊ में हूं। बताइये क्या करूं।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के लखनऊ से रवाना होने के कुछ ही देर बाद ये घटनाक्रम हुआ। इसके साथ ही योगी सरकार ने उन्नाव जिला अस्पताल के दो डॉक्टरों को निलंबित कर अनुशासनात्मक कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

ये भी पढ़ें- नीतीश सरकार ने राबड़ी देवी को वापस दी सुरक्षा, तेजस्वी ने कसा तंज- इसीलिए कहा जाता है 'पलटूराम'

तीन डॉक्टरों पर भी गिरी गाज

जेल अस्पताल के तीन डॉक्टरों पर भी कार्रवाई की गाज गिरी है जिन पर पीड़िता के पिता के इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप है। इसके साथ ही क्षेत्राधिकारी सफीपुर, कुंवर बहादुर सिंह भी लापरवाही के आरोप में निलंबित कर दिए गए हैं।

शासन ने एसआईटी के साथ जेल डीआईजी और उन्नाव जिला प्रशासन से भी रिपोर्ट मांगी थी। एक साथ तीन रिपोर्ट मिलने के बाद सरकार ने ये फैसले किए हैं। इसके साथ ही सरकार पीड़िता के परिवार को सुरक्षा भी उपलब्ध कराएगी।

कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का केस दर्ज

18 वर्षीय लड़की से बलात्कार के मामले में सेंगर की कथित संलिप्तता के कारण बढ़ती मुश्किल के बीच राज्य सरकार ने विधायक और अन्य आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का भी फैसला किया है।

प्रधान सचिव (सूचना) ने एक बयान में कहा कि विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार के आरोपों पर विचार करते हुए उचित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की जाएगी और जांच सीबीआई को सौंपी जाएगी। सरकार ने पीड़िता के पिता की मौत मामले की जांच भी सीबीआई से कराने का फैसला किया है।

ये भी पढ़ें- Video: पाकिस्तान में 6 महीने की गर्भवती ने खड़े होकर गाने से किया इनकार, सीने में उतार दी गोलियां

बयान में कहा गया कि पीड़िता के पिता की मौत से संबधित घटनाओं की जांच भी सीबीआई को सौंपी जाएगी। ये फैसले मामले की जांच के लिए अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (लखनऊ जोन) के अधीन गठित विशेष जांच टीम की रिपोर्ट सरकार को सौंपने के बाद लिए गए।

घटनाक्रम तब हुआ जब इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने वरिष्ठ अधिवक्ता गोपाल स्वरूप चतुर्वेदी के पत्र पर राज्य सरकार से घटना पर उसका रुख पूछा और मामले की सुनवाई कल तक के लिए स्थगित कर दी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story