Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कानपुर 97 करोड़ पुराने नोट मामला: तीन नोटों का बिस्तर, 16 गिरफ्तार

कानपुर पुलिस ने एनआईए की मदद से शहर के बड़े बिल्डर आनंद खत्री के घर पर छापा मारकर 97 करोड़ से ज्यादा के 500 और 1000 के पुराने नोट बरामद किए और 16 लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया है।

कानपुर 97 करोड़ पुराने नोट मामला: तीन नोटों का बिस्तर, 16 गिरफ्तार
X

देश में पिछले साल हुई विमुद्रीकरण के बाद उत्तर प्रदेश के कानपुर में एनआईए और पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। कानपुर पुलिस ने बिल्डर के घर से करीब 97 करोड़ की पुरानी मुद्रा के साथ 16 लोगों को गिरफ़्तार किया है। ये सभी नोट 500 और 1000 रुपये के बंद हो चुके नोट हैं, जिनको बिस्तर बनाकर रखा गया था।

पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ लोग शहर के बड़े व्यापारियों के पास छिपाकर रखे गए पुराने नोट लेने आए हैं, जो एक होटल में रुके हैं। इनको गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस के अलावा आयकर विभाग की टीम भी गिरफ्तार लोगों से पूछताछ कर रही है। अब तक 97 करोड़ रुपये की गिनती हो चुकी है। आईजी के निर्देश पर ये छापेमारी की गई।

अलग-अलग जगहों पर छापेमारी

खबर के अनुसार, यह छापा कानपुर पुलिस को एनआईए से इनपुट्स मिलने के बाद पड़ा है। एनआईए और स्थानीय सुरक्षा एजेंसियों बीते दिनों पुलिस को पुराने नोट जमा होने की जानकारी दी थी। इसके बाद मंगलवार को एनआईए के साथ मिलकर पुलिस ने अलग-अलग जगहों पर छापेमारी की।

पुरानी नोटों से बनाया था बिस्तर

एसएसपी अखिलेश मीणा के अनुसार, पुराने नोटों की गिनती अभी जारी है लेकिन अनुमान है कि पूरी रकम 90 से 100 करोड़ रुपये तक की हो सकती है। इसकी घोषणा शाम तक की जाएगी।

आतंकी कनेक्शन से साफ इनकार

पुलिस ने मामले के आतंकी गतिविधि से जुड़े होने से साफ इनकार किया। एसएसपी का कहना है कि मामले के मुख्य आरोपी आनंद खत्री काफी अमीर परिवार से संबंध रखते हैं और वह नोटबंदी के बाद से ही 20 से 25 प्रतिशत के एवज में लोगों का पुराना पैसा बदलने का झांसा देते थे। हालांकि आनंद को ये राशि जहां से बदलवानी थी वहां काम नहीं हो सका जिस वजह से पैसा घर में इकट्ठा होता गया। पुलिस के अनुसार, मंगलवार तक आनंद ने लोगों से पैसे इकट्ठा किए।

यहां से किया इकट्ठा

सूचना के बाद एसपी पश्चिम डॉ. गौरव ग्रोवर व एसपी पूर्वी अनुराग आर्य की टीम ने छापेमारी शुरू की। टीम ने नामी व्यापारियों के स्वरूपनगर, गुमटी, जनरलगंज व अस्सी फिट रोड स्थित प्रतिष्ठानों में छापेमारी कर पुराने नोट बरामद किए।

पांच गुना टैक्स के साथ जाना होगा जेल

पुरानी करंसी रखने पर जेल जाने के साथ बरामद रकम पर पांच गुना आयकर देना होगा। जमा न करने की स्थिति में इसकी रिकवरी उनकी चल-अचल संपत्ति से की जाएगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story