Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

2019 के आम चुनावों से पहले भाजपा को लग सकता है बड़ा झटका, जानें वजह

भारतीय जनता पार्टी की सहयोगी पार्टियां जिस तरह से भारतीय जनता पार्टी से अलग हो रही है, 2019 के चुनाव में भाजपा के लिए मुश्किलें पैदा कर सकती है।

2019 के आम चुनावों से पहले भाजपा को लग सकता है बड़ा झटका, जानें वजह
X

राज्य सभा चुनावों में मिली बंपर जीत के बाद भाजपा को 2019 के आम चुनावों में तगड़ा झटका लग सकता है। भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी दल 2019 में होने वाले आम चुनाव में एनडीए से अलग हो सकते हैं, इसकी शुरुआत शिवसेना, टीडीपी समेत कई क्षेत्रीय दलों ने कर दिया है।

आपको बता दें कि हाल ही मे संपन्न हुए राज्यसभा चुनाव में ओमप्रकाश राजभर पर आरोप है कि उनके दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) द्वारा भाजपा के खिलाफ क्रॉस वोटिंग की गई है। अगर ये बात सच साबित हुई तो भाजपा के सहयोगी दल उनसे अलग हो सकती है।

इसे भी पढ़े- ई-वे बिल पर बोली व्यापारियों की संस्था, इस तरह से लागू करेंगे तो होगी आसानी

हालांकि राजभर ने दावा करते हुए ये कहा है कि राज्यसभा चुनाव में दल के किसी विधायक ने भाजपा के खिलाफ क्रॉस वोटिंग नहीं की है। मीडिया रिपोर्टस और विपक्षी दलों नेताओं के बयान को देखते हुए सुभासपा दल के दो विधायकों को कारण बताओ नोटिस जारी कर उनसे एक सप्ताह के भीतर जवाब मांगा गया है।

सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर के सुपुत्र और पार्टी के राष्ट्रीय मुख्य महासचिव अरविंद राजभर ने रविवार को मीडिया कर्मियों को दी जानकारी में बताया कि लखनऊ में 27 मार्च को पार्टी की एक आपात बैठक होगी। खबर है कि सुभासपा 27 मार्च को अपनी बैठक में भाजपा से गठबंधन जारी रखने पर पुनर्विचार करेगी।

मामले में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के हस्तक्षेप के बावजूद भी सहयोगी दल सुभासपा असंतुष्ट है। दल का कहना है कि उत्तर प्रदेश में नौकरशाही बेलगाम हो गई है और मौजूदा स्थिति इस कदर अनियंत्रित हो गई है कि आजमगढ़ जिले का एक थानाध्यक्ष कानूनी कार्रवाई करने की सिफारिश पर मंत्री ओम प्रकाश राजभर के लिए कहता है कि वह स्वयं आकर मामले को सुलझा लें।

इसे भी पढ़े- कर्नाटक दौरा: राहुल का जेडीएस पर हमला, कहा- भाजपा को समर्थन के मुद्दे पर अपना रुख साफ करे

राजभर का कहना है कि 27 मार्च को होने वाली बैठक में दल बेलगाम नौकरशाही से निपटने के साथ ही संगठन के विस्तार पर भी विचार किया जाएगा। क्रॉस वोटिंग पर राजभर से पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि ऐसी सम्भावना है कि बसपा तथा सपा सुभासपा को अपने गठबंधन में शामिल करने के लिए और भाजपा से सुभासपा को अलग करने के लिए ये बयानबाजी कर रहे हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story