Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इस जुर्म में यूपी पुलिस ने गधों को रखा जेल में, 4 दिन बाद छोड़ा

उत्तर प्रदेश के जालौन में पुलिस ने गधों को 4 दिनों तक जेल में बंद रखा।

इस जुर्म में यूपी पुलिस ने गधों को रखा जेल में, 4 दिन बाद छोड़ा
X

यूपी विधानसभा चुनाव में चर्चा का विषय बने गधे इस बार यूपी पुलिस की वजह से सुर्खियों में हैं। कई बार अपराधियों को ना पकड़ पाने का आरोप झेलने वाली उत्तर प्रदेश पुलिस ने अब गधों को हिरासत में लेना शुरू कर दिया है। बड़ी बात ये है कि हिरासत में लेने के बाद इन गधों को 4 दिन तक थाने में रखा गया।

इसे भी पढ़ें- छत्तीसगढ़: सीएम रमन सिंह के मंत्री को मोबाइल पर धमकी, पीए ने पुलिस को दी खबर

ये है पूरा मामला

यह हास्यास्पद मामला उत्तर प्रदेश के जालौन जिले का है जहां पुलिस के द्वारा गधों के एक समूह को हिरासत में लिया गया था। मिली जानकारी के अनुसार उरई में हिरासत में लिए गए इन गधों ने जिला जेल के बाहर लगे पेड़ों को नुकसान पहुंचाया था। जिसके बाद पुलिस के जवान इन्हें पकड़कर थाने में ले आए।

4 दिन हिरासत में रहे पकड़े गए गधे

हिरासत में लिए गए इन गधों को 4 दिनों तक थाने में ही रखा गया। फिर मंगलवार को उन्हें छोड़ दिया गया। इस घटना के बाद थाने के बाहर खड़े गधों की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर हुईं तो लोगों ने इसके बहाने पुलिस की कार्रवाई का मजाक बनाया।

वहीं इस मामले पर उरई जिला जेल के हेड कॉन्स्टेबल आरके मिश्रा ने कहा कि इन गधों ने जेल के बाहर रखे कई महंगे पेड़ों को नुकसान पहुंचाया था। उन्होंने कहा कि इन गधों के मालिक को चेतावनी दी गई थी कि वह इन्हें खुले में ना छोड़े लेकिन जब उसने ये बात नहीं सुनी तो हम इन्हें पकड़कर थाने ले आए।

यूपी चुनाव के दौरान छिड़ी थी 'गधों' पर बहस

यूपी में विधानसभा के चुनाव के दौरान गधे चुनाव की बहस का एक बड़ा मुद्दा बने थे। चुनाव प्रचार के दौरान तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव ने रायबरेली में एक सभा के दौरान गुजरात सरकार के पर्यटन विभाग के टीवी विज्ञापन की तरफ इशारा करते हुए कहा था, 'एक गधे का विज्ञापन आता है।

इसे भी पढ़ें- GES 2017: इन 5 वजहों से चर्चा में है ग्लोबल एंटरप्रेन्योर समिट

मैं सदी के महानायक से अपील करता हूं कि वह गुजरात के गधों का प्रचार न करें।' इस बयान पर कटाक्ष करते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि अगर दिल-दिमाग साफ हो तो किसी से भी प्रेरणा ली जा सकती है।

पीएम ने कहा कि गधा अपने मालिक का वफादार होता है। कम खर्चे में पूरा काम करता है। गधा कितना भी बीमार हो, कितना भी थका हुआ हो, मालिक अगर काम लेता है तो बीमारी के बावजूद वह काम पूरा करता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story