Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मुजफ्फरनगर : सरकारी स्कूल के मिड-डे मील में मृत मिला चूहा, भोजन खाने के बाद एक शिक्षक समेत 10 छात्र अस्पताल में भर्ती

राज्य के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने कहा कि प्रारंभिक जांच के अनुसार, एक एनजीओ द्वारा भोजन की आपूर्ति की जाती है। हमने एनजीओ के खिलाफ एएआईआर दर्ज करके काली सूची में डाल दिया है।

मुजफ्फरनगर : सरकारी स्कूल के मिड-डे मील में मृत मिला चूहा, भोजन खाने के बाद एक शिक्षक समेत 10 छात्र अस्पताल में भर्तीसरकारी स्कूल के मिड-डे मील में मृत मिला चूहा

उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर के सरकारी स्कूल में मिड-डे मील खाने के बाद नौ छात्र और एक अध्यापक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दरअसल में भोजन में एक चूहा मृत पया गया। इसी भोजन को खाकर नौ छात्र और एक अध्यापक बीमार पड़ा गए। तत्काल उन्हें इलाज के अस्पताल में भर्ती कराया गया।

हालांकि की बाद में उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। मुजफ्फरनगर के इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर नवीन बंसल ने कहा कि नौ छात्रों और एक शिक्षक को इमरजेंसी में लगाया गया था। उन्हें उपचार दिया गया और उनके शरीर में जहर नहीं पाया गया। इलाज के बाद सभी को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

आगे की कार्रवाई जांच पूरी होने के बाद की जाएगी

मुजफ्फरनगर के एक सरकारी स्कूल में मिड-डे मी के भोजन में मृत चूहा निकलने पर राज्य बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बयान दिया है। राज्य के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने कहा कि प्रारंभिक जांच के अनुसार, एक एनजीओ द्वारा भोजन की आपूर्ति की जाती है। हमने एनजीओ के खिलाफ एएआईआर दर्ज करके काली सूची में डाल दिया है। आगे की कार्रवाई जांच पूरी होने के बाद की जाएगी।

22 शिकायते आईं

बेसिक शिक्षा विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पिछले तीन वर्षों में 1.68 लाख स्कूलों में छात्रों को खराब गुणवत्ता के मामले मे मिड-डे मील की केवल 22 शिकायतें सामने आई हैं। बता दें कि इस साल अगस्त महीने में मिर्जापुर के एक सरकारी प्राथमिक स्कूल में बच्चों को नमक और रोटी परोसी गई थीं।

बताते चले की हाल ही में उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के प्राइमरी स्कूल में मिड-डे मील में एक लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाया गया। उसके बाद 80 बच्चों में बांटा गया था।

Next Story
Share it
Top