Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बुलंदशहर / आरोपी जल्द गिरफ्त में नहीं आए, तो उनके सिर पर किया जाएगा इनाम घोषित: SSP प्रभाकर

बुलंदशहर के स्याना में गोकशी को लेकर हुई हिंसा के संबंध में बुलंदशहर के नए एसएसपी (SSP) प्रभाकर चौधरी ने कहा कि स्याना में हुए वारदात की जांच स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) कर रही है।

बुलंदशहर / आरोपी जल्द गिरफ्त में नहीं आए, तो उनके सिर पर किया जाएगा इनाम घोषित: SSP प्रभाकर

बुलंदशहर के स्याना में गोकशी को लेकर हुई हिंसा के संबंध में बुलंदशहर के नए एसएसपी (SSP) प्रभाकर चौधरी ने कहा कि स्याना में हुए वारदात की जांच स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) कर रही है।

बुलंदशहर के एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने गुरुवार को कहा कि स्याना में हुए वारदात की जांच स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) कर रही है। हिंसा में शामिल आरोपियों को जेल भेज दिया गया है और कुछ अन्य के खिलाफ गैर-जमानती वॉरंट जारी कर दिए गए हैं।

उन्होंने आगे कहा कि फरार आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की टीम जगह-जहग छापेमारी कर रही है। अगर आरोपी जल्द पुलिस की पकड़ में नहीं आते हैं तो उनके सिर पर इनाम का ऐलान किया जाएगा, ताकि आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़े जा सकें।

पुलिस की लापरवही के बाद किया गया तबादला

जानकारी के लिए आपको बता दें कि बुलंदशहर के स्याना में गोकशी को लेकर हुई हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार और एक अन्य व्यक्ति की मौत हो गई थी।

इंस्पेक्टर सुबोध कुमार और एक अन्य व्यक्ति की मौत की जांच एडीजी इंटेलीजेंस ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सौंप दी है। इस रिपोर्ट में पुलिस की लापरवाही की बात सामने आई।

इसके बाद मामले को गंभीरता से लेते हुए सीएम योगी ने बुलंदशहर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) को भी हटाकर उनकी जहग पर सीतापुर के एसपी प्रभाकर चौधरी नियुक्त किया गया।

60 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

गौरतलब है कि बुलंदशहर के स्याना में गोकशी के शक में भीड़ की हिंसा में थाना कोतवाली में तैनात इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और एक सुमित नामक मौत हो गई।

इस मामले में पुलिस ने 27 नामजद लोगों तथा 50-60 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। आपको यह भी बताते चले कि हिंसा के मामले में आरोपी जितेंद्र मलिक उर्फ जीतू फौजी की गिरफ्तार कर लिया है।

जिसके बाद स्थानीय कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। आरोपी जीतू फौजी ने पुलिस हिरासत में कहा था कि कि मैं भगोड़ा नहीं हूं। मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है मुझे फंसाया जा रहा है।

आरोपी जीतू फौजी को सेना ने एक हफ्ते पहले मेरठ में यूपी एसटीएफ को सौंप दिया था। जिसके बाद एसटीएफ टीम ने जीतू फौजी से ने पूछताछ की और बाद में बुलंदशहर कोर्ट में पेश किया गया था।

Next Story
Top