Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बुलंदशहर हिंसा / सात पर एफआईआर दर्ज, चार गिरफ्तार, 6 टीमें कर रही हैं छापेमारी

बुलंदशहर हिंसा के मामले में यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने बताया कि अभी तक 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 7 लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई है। बुलंदशहर में अब हालात काबू में हैं।

बुलंदशहर हिंसा / सात पर एफआईआर दर्ज, चार गिरफ्तार, 6 टीमें कर रही हैं छापेमारी

बुलंदशहर हिंसा के मामले में मंगलवार को यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने बताया कि अभी तक 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। बुलंदशहर में अब हालात काबू में हैं। अभी तक इस मामले में 7 लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई है।

एडीजी ने बताया कि फिलहाल हालात काबू में हैं। उन्होंने कहा कि गोकशी और हिंसा के मामले में दो एफआईआर दर्ज की गई है। हमारी 6 टीमें अभी छापेमारी कर रही हैं। वीडियो फुटेज, चश्मदीदों के बयान पर ही कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच एसआईटी कर रही है।

इसे भी पढ़ें- बुलंदशहर हिंसा/ जिला कोर्ट ने तीन आरोपियों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज

एडीजी आनंद कुमार ने बताया कि जांच की जा रही है। किसी भी निर्दोष के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी। नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किए जा रहे हैं, जो लोग गिरफ्तार हुए हैं उनमें चमन, देवेंद्र, आशीष चौहान, सतीश हैं. उन्होंने कहा कि किसी भी संगठन का नाम सामने नहीं आया है। ये वो लोग हैं जो भीड़ में आगे थे।

दरअसल, बुलंदशहर हिंसा में तनाव के मद्देनजर जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है। प्रदेश सरकार ने इस मामले की जांच एडीजी इंटेलीजेंस को सौंपी है, जो 48 घंटे के अंदर रिपोर्ट देंगे। इसके साथ ही मेरठ रेंज के महानिरीक्षक की अध्यक्षता में एक एसआईटी का भी गठन किया है। मुख्यमंत्री ने इस पूरे मामले पर दुख व्यक्त किया है।

इसे भी पढ़ें- बुलंदशहर हिंसा/ सीएम योगी आज करेंगे बैठक, कानून-व्यवस्था का लेंगे जायजा

पैतृक गांव में अंतिम संस्कार

इंस्पेक्टर सुबोध का उनके एटा स्थित पैतृक गांव तिरिगवां में अंतिम संस्कार किया गया। बड़े बेटे श्रेय ने पिता की चिता को मुखाग्नि दी। इससे पहले दिवंगत इंस्पेक्टर के परिजनों ने उन्हें शहीद का दर्जा दिए जाने तक अंतिम संस्कार कराने से इनकार कर दिया था। पुलिस अफसरों की मान-मनौवल के बाद इंस्पेक्टर सुबोध के परिजन राजी हो गए।

दो एफआईआर दर्ज

मेरठ जोन के एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि मामले में 2 एफआईआर दर्ज हुई हैं। इसमें पहली एफआईआर कथित गोकशी पर और दूसरी एफआईआर हिंसक प्रदर्शन पर दर्ज की गई है। एक एफआईआर में 27 लोगों को आरोपी बनाया गया है, जबकि दूसरे में 60 लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है।

Next Story
Top