Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अखिलेश बोले- भाजपा मुझे बदनाम कर रही है, सरकार ने कहा- ''खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे''

स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ सिंह ने कहा कि अखिलेश को खुद आयकर ​विभाग को यह बताना चाहिए कि बंगले में लगाने के लिए पैसा उनके पास कहां से आया।

अखिलेश बोले- भाजपा मुझे बदनाम कर रही है, सरकार ने कहा- खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे
X

सरकारी बंगले में कथित तोड़फोड़ संबंधी खबरों को समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उन्हें बदनाम करने की भाजपा की साजिश करार दिया।

वहीं दूसरी ओर अखिलेश द्वारा बंगले को लेकर लगाये गये आरोपों पर पलटवार करते हुये राज्य सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि सच्चाई सामने आने पर ‘‘खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे' वाली कहावत चरितार्थ हो रही है।

सरकार के प्रवक्ता एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ सिंह ने कहा कि अखिलेश को खुद आयकर ​विभाग को यह बताना चाहिए कि बंगले में लगाने के लिए पैसा उनके पास कहां से आया।

इसके अलावा उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि जिस दीवार को तोड़ा गया उसके पीछे क्या छिपाया गया था, इसकी जानकारी भी दें? इससे पहले बंगले में तोड़फोड़ का मामला तूल पकड़ने के बाद अखिलेश यादव ने संवाददाता सम्मेलन में सफाई दी।

उन्होंने इस मामले में कार्रवाई के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कल पत्र लिखने वाले राज्यपाल राम नाईक पर भी संविधान के अनुरूप काम ना करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनके अंदर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की आत्मा है।

अखिलेश ने कहा कि इन दिनों सोशल मीडिया पर चर्चा है कि हम अपने सरकारी बंगले को खाली करने के दौरान टोटियां खोल ले गये और फर्श का पत्थर तोड़ डाला। यह सरासर गलत है और मुझे बदनाम करने के लिये ही किया गया है। इसमें कुछ अधिकारी भी शामिल हैं।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने अपने बंगले में जिम और स्टील का ढांचा लगवाया था। अब वह उसे अपने घर में इस्तेमाल करना चाहते हैं। भाजपा मीडिया का सहारा लेकर उन्हें बदनाम करना चाहती है।

अखिलेश ने कहा कि भाजपा यह इसलिए कर रही है क्योंकि वह गोरखपुर और फूलपुर की हार स्वीकार नहीं कर पा रही है। वह यह समझ ले कि इस अपमान के लिये जनता उसे सबक सिखाएगी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि अधिकारी नम्बर बढ़ाने की होड़ कर रहे हैं।

उन्होंने मुख्यमंत्री योगी के सचिव विशेष कार्याधिकारी अभिषेक कौशिक और आईएएस अधिकारी मृत्युंजय नारायण का नाम लेते हुए कहा कि मीडिया यह बताये कि आखिर उसके पहुंचने से पहले बंगले में कौन अधिकारी पहुंचे थे।

किसने वहां की वीडियो बनायी और किसने चीजों को मीडिया में अपने मुताबिक फैलाया। उन्होंने कहा कि कुछ लोग कह रहे हैं कि मैंने बंगले पर 42 करोड़ रुपये खर्च किये। उन्होंने कहा कि जिस पाटे गये स्विमिंग पूल की तस्वीरें वायरल हो रही हैं, वह तो बंगले में मौजूद ही नहीं हैं।

अधिकारियों को याद रखना चाहिये कि सरकारें बदलती रहती हैं। मैं उनसे (भाजपा) कहना चाहता हूं कि यही अधिकारी तब भी कुछ ढूंढेंगे जब आप अपना घर खाली करेंगे।

अखिलेश ने बंगले में कथित तोड़फोड़ के मामले में कार्रवाई के लिये मुख्यमंत्री को कल पत्र लिखने वाले राज्यपाल पर सख्त टिप्पणी करते हुए कहा ‘गवर्नर साहब संविधान से नहीं चल रहे हैं। उनके अंदर आरएसएस की आत्मा है।

उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने अखिलेश के संवाददाता सम्मेलन के तुरंत बाद बुलायी गयी पत्रकार वार्ता में कहा 'अखिलेश कह रहे कि उन्होंने बंगले में निर्माण कार्य अपने खुद के पैसे से करवाये हैं।

अब आयकर विभाग को चाहिये कि वह इस मामले की जांच करे कि जो पैसे मकान में लगाये जाने की बात वह कर रहे हैं उसका कोई हिसाब किताब भी है या नहीं। सिंह ने कहा,‘‘मैं एक मुहावरा कहूंगा 'खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story