Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अखिलेश के सामने उतरते ही निरहुआ को मिली Y+ श्रेणी की सुरक्षा, देखें क्या कहते हैं समीकरण

सियासत का खेल एकदम निराला होता है। कोई चुनाव जीतने के लिए मैदान में उतरता है तो कोई बस अपने नाम को लोगो के बीच चर्चा में पहुंचाने के लिए सियासी पिच पर बैटिंग करने उतरता है। ऐसा पहली बार नहीं हो रहा बल्कि हर लोकसभा चुनाव में होता आया है।

अखिलेश के सामने उतरते ही निरहुआ को मिली Y+ श्रेणी की सुरक्षा, देखें क्या कहते हैं समीकरण
X
सियासत का खेल एकदम निराला होता है। कोई चुनाव जीतने के लिए मैदान में उतरता है तो कोई बस अपने नाम को लोगो के बीच चर्चा में पहुंचाने के लिए सियासी पिच पर बैटिंग करने उतरता है। ऐसा पहली बार नहीं हो रहा बल्कि हर लोकसभा चुनाव में होता आया है।
लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में उत्तर प्रदेश की एक सीट इन्हीं कारणों से चर्चा में है। आजमगढ़ की लोकसभा सीट को समाजवादी पार्टी का गढ़ कहा जाता है। सपा के पूर्व प्रमुख मुलायम सिंह यहां से सांसद चुने जाते रहे हैं।
इस बार पार्टी के वर्तमान मुखिया व सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ताल ठोक रहे हैं। भाजपा ने उन्हें चुनौती देने के लिए भोजपुरी के स्टार गायक व अभिनेता दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ (Dinesh Lal Yadav 'Nirahua') को मैदान में उतारा है।
पहली नजर में अखिलेश के सामने निरहुआ का राजनीतिक कद बेहद छोटा मालूम पड़ता है। पर सियासत में कई बार ऐसे उलटफेर हुए हैं जिनकी चुनाव के पहले कोई उम्मीद ही नहीं होती।

ऐसे दे सकते हैं चुनौती

आजमगढ़ की इस सीट पर मुस्लिम और यादव वोटरो की संख्या अन्य के मुकाबले ज्यादा है यही वोटर हर बार जीत-हार तय करते हैं। अखिलेश और निरहुआ दोनों यादव हैं इसलिए वोटो का ध्रुवीकरण तय है। अब कितना वोट किसके हिस्से में जाएगा ये कह पाना मुश्किल है।
निरहुआ भोजपुरी सिनेमा के एक बड़े अभिनेता हैं उनके गानों के प्रति लोगो के अन्दर दिवानगी देखी जाती है। आजमगढ़ में उनकी लोकप्रियता किसी से छिपी नहीं है। और यहीं उन्हें फायदा पहुंच सकता है।
भाजपा का बेस वोट तो उन्हें मिलेगा ही साथ ही मुस्लिम और दलित के वोट भी वह अपनी तरफ मोड़ने में सफल हो सकते हैं। हाल ही में भाजपा का दामन थामे दिनेश लाल पर किसी तरह का आपराधिक मामला दर्ज नहीं है इसका भी उन्हें फायदा हो सकता है।
सोशल मीडिया की पॉपुलरटी अगर वोट में बदलती है तो दिनेशलाल चमत्कार कर सकते हैं। फेसबुक, ट्विटर के अलावा निरहुआ यूट्यूब पर खूब सर्च किए जाते हैं।

निरहुआ को मिली वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा

दिनेश लाल यादव (Dinesh Lal Yadav) ने भाजपा में शामिल होते ही अपनी सुरक्षा के लिए एक आवेदन किया। सरकार ने उनके आवेदन को स्वीकार भी कर लिया और उन्हें वाई प्लस (Y+) श्रेणी की सुरक्षा देने का फैसला किया। निरहुआ फिलहाल 'ठीक है' नाम की भोजपुरी फिल्म की शूटिंग में व्यस्त हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story