Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बाराबंकी में फर्जी दस्तावेजों के दम पर नौकरी कर रहे थे बाप-बेटे, 22 साल बाद ऐसे आए पकड़ में

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने फर्जी दस्तावेजों से अध्यापक बने बाप-बेटे को पकड़ा है। फर्जी दस्तावेजों के दम पर पिता 22 साल से नौकरी कर रहा था।

बाराबंकी में फर्जी दस्तावेजों के दम पर नौकरी कर रहे थे बाप-बेटे, 22 साल बाद ऐसे आए पकड़ मेंएसटीएफ की तरफ से गिरफ्तार किए गए पिता-पुत्र

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में फर्जी दस्तावेजों के दम पर बाप-बेटे सरकारी टीचर बन गए। पिता ने 22 साल की नौकरी भी पूरी कर ली। जबकि बेटा 9 साल से स्कूल में पढ़ा रहा था। 22 साल बाद स्पेशल टास्क फोर्स ने मामले का खुलासा किया है। जिसके बाद बाप और बेटे को गिरफ्तार किया गया है।

स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने शनिवार को पिता गिरीजेश त्रिपाठी और बेटे आदिशक्ति त्रिपाठी को गिरफ्तार किया है। दोनों बाप-बेटे सरकारी स्कूल में फर्जी प्रमाण पत्रों के सहारे नौकरी कर रहे थे। जानकारी के मुताबिक गिरीजेश त्रिपाठी 22 साल से सरकारी नौकरी कर रहे थे। जबकि आदिशक्ति त्रिपाठी 9 साल से नौकरी कर रहे थे।

दूसरी तरफ एसटीएफ ने मामले का खुलासा किया है। फर्जी दस्तावेजों के दम पर नौकरी करने की जानकारी मिलने के बाद जांच की गई। जांच में दस्तावेज फर्जी पाए जाने पर गिरफ्तार किया गया है। सूत्रों के मुताबिक पिता ने पहले फर्जी दस्तावेजों के दम पर नौकरी प्राप्त की। उसके बाद बेटे के भी फर्जी दस्तावेज बनवाकर नौकरी पर लगवाया। एसटीएफ मामले से जुड़े अन्य लोगों की भी जांच कर रही है।

Next Story
Share it
Top