Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

एक बार फिर ''राम लला हम आएंगे'' से गूंज रही अयोध्या, कई मुस्लिम परिवारों ने छोड़ा घर, बना डर का माहौल

अयोध्या एक बार फिर ''राम लला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे'' के नारों से गूंज रही है। 25 नवंबर को विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की ओर से एक विशाल धर्मसभा का आयोजन किया गया है। इस धर्म सभा की तैयारियां कई दिनों से चल रही थीं।

एक बार फिर
  • बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने मस्लिम बाहुल्य इलाकों में निकाला जुलूस
  • मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में जिला प्रशासन ने सुरक्षा के किए विशेष इंतजाम

अयोध्या एक बार फिर 'राम लला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे' के नारों से गूंज रही है। 25 नवंबर को विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की ओर से एक विशाल धर्मसभा का आयोजन किया गया है। इस धर्म सभा की तैयारियां कई दिनों से चल रही थीं।

बताया जा रहा है कि इसमें करीब 1 लाख लोग शामिल होंगे। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी इसमें शामिल हो सकते हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक 22 नवंबर को हिंदू संगठनों ने जूलूस निकाला। जिससे इलाके में एक डर का माहौल पैदा हो गया है।

याद आ रहा है 1992

अयोध्या के लोगों का कहना है कि यह माहौल उन्हें 1992 की याद दिला रहा है। लोग इलाके में हालात बिगड़ने की आशंका के चलते पहले ही अतिरिक्त राशन इकट्ठा करने लगे हैं। इसी वजह से अयोध्या में सुरक्षा को लेकर चाक चौबंद व्यवस्था की गई है। जगह-जगह CRPF, PAC और पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है।

सूत्रों का कहना है कि सरकार की मंशा है कि किसी भी हालत में रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवादित स्थल के आसपास यथास्थिति का उल्लंघन न होने दिया जाए। सुरक्षा के लिए कितने जवान तैनात किए गए हैं इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है।

उद्धव को दिखाएंगे काला झंडा

सूत्रों का कहना है कि विवादित स्थल के भीतरी और बाहरी घेरे में भी सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं। फैजाबाद के डिविजनल कमिश्नर मनोज मिश्रा के मुताबिक सिर्फ दर्शन करने वालों को ही उस परिसर में जाने दिया जाएगा। स्थानीय व्यापारी विहिप की इस बैठक को लेकर डरे हुए हैं।

उन्हें डर है कि कहीं 1992 जैसे हालात एक बार फिर से न पनप जाएं। इसी वजह से उन्होंने विहिप की इस सभा के विरोध का फैसला लिया है। व्यापारियों ने कहा है कि वह शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को काला झंडा दिखा कर विरोध करेंगे।

मुस्लिम परिवार छोड़ रहे घर

विहिप नेता भोलेंद्र सिंह का कहना है कि हिंदू-मुस्लिम परिवार डरे सहमे हैं। इसी कारण वो लोग अतिरिक्त राशन इकट्ठा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भले ही इलाके में धारा 144 लागू है लेकिन यह विहिप को रैली निकालने से नहीं रोक पाई है।

यह जुलूस बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने मस्लिम बाहुल्य इलाकों में निकाला था। जो जुलूस में 'राम लला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे' का नारा लगा रहे थे। मुस्लिम बाहुल्य इलाकों से जुलूस निकाले जाने पर पार्षद हाजी असद ने कहा कि मुसलमानों में मौजूदा माहौल को लेकर डर पैदा हो गया है।

कई मुस्लिमों ने डर के मारे इलाका ही छोड़ दिया है। कमिश्नर का कहना है कि जिला प्रशासन मुस्लिम इलाकों में खास तरह से सुरक्षा के इंतजाम कर रहा है।

Next Story
Top