Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पहली ही बारिश नहीं झेल पाया पुल, एक हिस्सा धंसने से खुली निर्माण की पोल

मानसून की पहली बारिश में ही हरिद्वार में एक पुल लोकार्पण से पहले ही ध्वस्त हो गया। पहली बारिश में ही निर्माण की पोल खुलने के बाद अधिकारियों पर गाज गिरना तय है। स्थानीय लोगो ने भी इस घटना के बाद नाराजगी जताई।

पहली ही बारिश नहीं झेल पाया पुल, एक हिस्सा धंसने से खुली निर्माण की पोलA part of the bridge had already demolished before the inauguration in haridwar

मानसून की पहली बारिश में ही हरिद्वार में एक पुल लोकार्पण से पहले ही ध्वस्त हो गया। पहली बारिश में ही निर्माण की पोल खुलने के बाद अधिकारियों पर गाज गिरना तय है। स्थानीय लोगो ने भी इस घटना के बाद नाराजगी जताई।

हरिद्वार के पिरान कलियर में पुरानी गंगनहर पर पुल 2015 में स्वीकृत हुआ था। क्योंकि पुराना पुल क्षतिग्रस्त हो गया था जिसके बाद उसपर आवगमन पूरी तरह से बंद कर दिया गया था।

2015 में पास हुए इस पुल को 2016 में बनकर तैयार होना था पर लेटलतीफी का शिकार हुआ पुल 2019 में जाकर बना और बनते ही बरसात में धंस गया। दीवारों में दरार आ गई। जिसके बाद निर्माण पर सवाल खड़ा हो गया।

वहां के लोगो ने बताया कि पुल के नीचे आने के लिए काफी ढलान है उस ढलान पर कोई हादसा न हो इसे रोकने के लिए ब्लॉक लगाए हुए थे लेकिन बारिश के चलते पुल लोकार्पण के पहले ही टूट गई।

Share it
Top