Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इस्लाम का रक्षक नहीं भक्षक है मसूद अजहर, 500 से ज्यादा उलेमाओं ने जारी किया फ़तवा

दुनिया के लिए आंतक का चेहरा बन चुके मसूद अजहर को आखिरकार ग्लोबल आतंकी घोषित कर ही दिया गया। मसूद अजहर भले खुद को इस्लाम का रक्षक बताता रहा पर उसे तमाम उलमा पहले ही फतवा जारी करके उसको इस्लाम से खारिज कर दिया था।

इस्लाम का रक्षक नहीं भक्षक है मसूद अजहर, 500 से ज्यादा उलेमाओं ने जारी किया फ़तवा
X

दुनिया के लिए आंतक का चेहरा बन चुके मसूद अजहर को आखिरकार ग्लोबल आतंकी घोषित कर ही दिया गया। मसूद अजहर भले खुद को इस्लाम का रक्षक बताता रहा पर उसे तमाम उलमा पहले ही फतवा जारी करके उसको इस्लाम से खारिज कर दिया था।

मसूद अजहर को इस्लाम की छवि खराब करने के प्रतीक के तौर पर मानते हुए दुनियाभर के करीब पांच सौ उलमा-ए-कराम ने फतवा जारी करके उसे इस्लाम से खारिज कर दिया। इसी साल फरवरी में दिल्ली के रामलीला मैदान पर ख्वाजा गरीब नवाज वर्ल्ड पीस कांफ्रेंस हुई। दुनियाभर के तमाम मौलाना जुटे। बरेली निवासी मौलाना शहाबुद्दीन रजवी के संगठन तंजीम उलमा-ए-इस्लाम ने यह आयोजन किया।

फरवरी में ही पुलवामा अटैक हुआ था जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। उसको लेकर देश के हर इंसान के अन्दर गुस्सा था। तमाम मुस्लिम संगठनों ने भी इस कृत्य को बेहद जघन्य बताया। और इसे इस्लाम से जोड़कर देखने वालों की निंदा की।

अब जब मसूद अजहर को दुनिया ने ग्लोबल आतंकी मान लिया है तो तमाम मुस्लिम धर्मगुरुओं ने खुशी जताई है। उलमा ने आतंकवाद की आलोचना किया है। और कहा कि दुनिया के जिस भी देश में इस्लाम के नाम पर बमबारी होती है, छोटे बच्चों को जिहाद का हवाला देकर आतंकी गतिविधियों में शामिल करते हैं। मानव बम का इस्तेमाल करते हैं असल में ये सब इस्लाम विरोधी हैं। इस्लाम शान्ति की अपील करता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story