Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रावण ने गिरफ्तारी के बाद किया चौंकाने वाला खुलासा

चंद्रशेखर को कोर्ट में पेश करने से पहले पुलिस ने अंबहेटा में गुप्त स्थान पर उससे करीब तीन घंटे पूछताछ की गई।

रावण ने गिरफ्तारी के बाद किया चौंकाने वाला खुलासा
X

सहारनपुर में दलितों का नेता बनने के लिए 9 मई को भड़की जातीय हिंसा में भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण का हाथ था, इस घटना की पूरी स्क्रिप्ट रावण ने लिखी थी। दलितों का नेता बनने के लिए उसने ऐसी साजिश रची थी। पुलिस के एक आला अधिकारी ने रावण से पूछताछ के आधार पर यह खुलासा किया है।

गुरुवार देर रात चंद्रशेखर को कोर्ट में पेश करने से पहले पुलिस ने अंबहेटा में गुप्त स्थान पर उससे करीब तीन घंटे पूछताछ की गई जिसके बाद रावण ने बाताया जून माह के दूसरे सप्ताह में भी सहारनपुर में हिंसा भड़काने की साजिश होशियारपुर में चल रही थी।

इसके लिए रावण ने हथियारों की बड़ी खेप का इंतजाम भी किया था। रावण ने बताया कि वह स्वयं खून की होली खिलवाने का रिमोट उसके हाथ में ही था।

बता दे कि 9 मई की घटना के बाद रावण सीधे दिल्ली पहुंचा, जहां पर वह नवाब सतपाल तंवर के संपर्क में आया। साजिश को परवान चढ़ाने के लिए उसने रुपए एकत्र करने की रूपरेखा भी तंवर के साथ मिलकर बनाई गई।

23 मई को शब्बीरपुर की घटना के बाद सहारनपुर के रामगढ़ के रहने वाले राजन, लाडवा गांव के कदम सिंह को गांव में अफवाहें फैलाने की जिम्मेदारी सौंपी गई। अफसर के मुताबिक, राजन व कदम ने ही रावण के इशारे पर 9 मई को एडीएम प्रशासन व सीओ की पिटाई की थी।

रावण से भीम आर्मी के मुखिया से उसके राजनीतिक आका के बारे में पूछा गया तो उसने कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया। बोला, वह अपने समाज का नेता है। विभिन्न दलों के नेता उसके इशारे पर नाचते हैं। वह खुद की पहचान बनाना चाहता था। इसलिए उसने सहारनपुर में जातीय हिंसा को हवा दी।

एसएसपी बबूल कुमार ने कहा, रावण से पूछताछ के दौरान कई राजफाश किए हैं। भीम आर्मी के जिन पदाधिकारियों के नाम उसने हिंसा कराने में लिए हैं, उनमें राजन, कदम, प्रवीण, दीपक, कमल जेल जा चुके हैं, जबकि विनय, रतन व मंजीत पर 12 हजार का इनाम घोषित किया जा चुका है। शीघ्र ही रावण को भी रिमांड पर लिया जाएगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story