Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नहीं थम रही है सेल्फी डेथ, अब यहां नदी में फोटो लेने के चक्कर में 3 छात्रों ने गंवाई जान

बार-बार मना किए जाने के बावजूद इन छात्रों ने किसी की बात नहीं सुनी और अपनी जान गंवा दी।

नहीं थम रही है सेल्फी डेथ, अब यहां नदी में फोटो लेने के चक्कर में 3 छात्रों ने गंवाई जान
X

उत्तर प्रदेश के में सेल्फी के क्रेज में बकुलाही नदी ने उतरे 3 छात्रों की नदी में डूबने से मौत हो गई। जबकि दो छात्रों को बचा लिया गाया। बते दे की ये पांचों दोस्त रक्षा बंधन के मौक पर घर सभी दोस्त पिकनिक मनाने के लिए धार्मिक स्थल शनिदेव धाम विश्वनाथगंज प्रतापगढ़ गए थे।

यहां पहुंचकर पांचों दोस्त बकुलाही नदी में उतरे। सेल्फी लेने के दौरान सभी गहरे पानी में चले गए। नदी का तेज बहाव उनके लिए खतरनाक साबित हुआ और मोबाइल में खींची उनकी सेल्फी जिंदगी की आखिरी सेल्फी बन गई।

ये भी पढ़ें - अयोध्या में बने राम मंदिर, शिया वक्फ बोर्ड का SC में हलफनामा

इस हादसे की सूचना जैसे ही पुलिस को मिली मौके पर पहुंची पुलिस ने इलाहाबाद से डूबे छात्रों को तलाशने के लिए गोताखोर बुलाए गए। कई घंटे की कड़ी मशक्क के बाद गोताखोरे ने तीन छात्रों का शव बरामद कर लिया। जबिक दो छात्रों को जिंदा बचा लिया गया।

इस हादसे की जानकारी पुलिस ने मृतक के परिजनों को दी जिसके बाद परिवार मे कोहराम मच गया। जिसके बाद परिजनों ने पुलिस से शवों का पोस्टमॉर्टम न कराने का आग्रह किया और शव अपने घर ले गए।

परिजनों के मुताबिक पांचों छात्र दो अलग-अलग स्कूलों में इंटर में पढ़ते हैं। जिनमें शिवांग सिंह, विजय और अवनीश तीनो ऐंजिलिस कॉलेज के छात्र थे। जबकि रौनक सिंह आत्रेय ऐकडमी और धनंजय सिंह, सोमेनदर सिंह कॉलेज में पढ़ते हैं।

रक्षाबंधन के मौके सभी ने इलाहाबाद घूमने का प्लान बनाया था। मंगलबार सुबह सभी संगम नगरी देखने के लिए रवाना हुए थे। जब विश्वनाथगंज नजदीक आया तो सभी ने शनिदेव महराज के दर्शन की इच्छा जाहिर की। फिर क्या था गाड़ी शनिदेवधाम मुड़ गई और बकुलाही नदी में उनकी मौत ने उन्हें खुद ही अपने पास बुला लिया।

इसे भी पढ़ेंः गुजरात में राहुल गांधी की कार पर हमला करने के आरोप में BJP नेता जयेश दर्जी गिरफ्तार

घटना की सूचना पर परिजन रोते बिलखते शनिदेव धाम पहुंचे। तब तक मानधाता थाना पुलिस, शनिदेव चौकी, देल्हूपुर चौकी की पुलिस मौके पर पहुंची। एसपी सगुन गौतम भी मौके पर आए तो गोताखोरों को इलाहाबाद से बुलाया गया।

गोताखोर टीम पहुंचने के बाद खोजबीन शुरू हुई। चार घंटे बाद तीनों छात्रों का शव बरामद किया जा सका। घटना के बाद गांव से लेकर पूरे इलाके में मातम का माहौल है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story