Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब बच्चों से पहले मां चखेंगी मिड-डे मील

उत्तरप्रदेश सरकार ने कहा है कि पहले माता-पिता को खाना चख कर बताना होगा कि ये खाना उनके बच्चों के लिए कितना सही है।

अब बच्चों से पहले मां चखेंगी मिड-डे मील
X

कहते हैं कि मां के हाथ के बने खाने की बात ही कुछ और होती है और मां से बेहतर खाना कोई और बना भी नहीं सकता इसलिए उत्तर प्रदेश सरकार ने ये फैसला लिया है कि प्राथमिक स्कूलों में बनने वाला खाना पहले मां को चखना होगा।

खाने की गुणवत्ता को टेस्ट करने के लिए उत्तरप्रदेश सरकार ने कहा है कि पहले माता-पिता को खाना चख कर बताना होगा कि ये खाना उनके बच्चों के लिए कितना सही है।
छात्रों के अभिभावक अब रोज स्कूल में जाकर मिड-डे मील को चख सकते हैं। प्राथमिक शिक्षा विभाग इसके लिए माता-पिता का रोस्टर तैयार करेगा।
राज्य सरकार की योजना के मुताबिक प्रत्येक विद्यालय में स्कूल प्रबंधन समिति द्वारा माता-पिता का छह सदस्यों वाला एक पैनल बनाया जाएगा, जिसमें मां को प्राथमिकता दी जाएगी।
हर दिन, एक छात्र की मां को स्कूल आना होगा ताकी वो खुद चखकर भोजन की गुणवत्ता की जांच कर सके। फीडबैक लेने के लिए शिक्षक और अन्य अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।
गौरतलब है कि आज ही मिड-डे मील में मरे हुए सांप को पाया गया था जिसके बाद राज्य सरकार ने फैसला लिया है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story