Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

UP: अब मदरसों में बच्चों को पढ़ाया जाएगा तीन तलाक का पाठ

सुप्रीम कोर्ट ने एक ही बार में 3 तलाक कहने पर रोक लगाई है ना कि 3 तलाक पर।

UP: अब मदरसों में बच्चों को पढ़ाया जाएगा तीन तलाक का पाठ
X

कई महीने से सुर्खियों में रहे तीन तलाक के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाकर मुस्लिम समाज में चल रही तीन तलाक की प्रथा पर प्रतिबंध लगा दिया है। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के फैसले की व्याख्या में तथ्यात्मक गलती होने की संभावना है।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने एक ही बार में 3 तलाक कहकर पत्नी को त्यागने की मुस्लिम समाज में प्रचलित कुप्रथा पर रोक लगाई है ना कि 3 तलाक पर। जिसके चलते अब यूपी के मदरसों में तीन तलाक के सही तरीकों के बारे में पढ़ाया जाएगा।

इसे भी पढ़ें- तीन तलाक: विशेषज्ञों ने बताया सुप्रीम कोर्ट के फैसले से ऐसे आएगा बड़ा बदलाव

सुन्नी बरेलवी समुदाय के संगठन जमात रजा-ए-मुस्तफा के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना शाहबुदीन रजवी ने कहा कि तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हमने अपने मदरसों के साथ जुड़े मौलवियों की मीटिंग बुलाई और मदरसे में पढ़ने वाले तीन तलाक के सही तरीकों के बारे में बताने के लिए कहा है।

जिसके बाद उन्होंने कहा छात्रों को पढ़ाने से समाज को भी इस बारे में जानकारी मिल सकेगा। रजवी ने कहा कि इसके अलावा शुक्रवार की नमाज और अन्य धार्मिक कार्यक्रमों के दौरान तीन तलाक के सही तरीकों के बारे में बताया जाएगा।

इसे भी पढ़ें- SC के आदेश की तोहीन, फैसले के 24 घंटे बाद ही इस शख्स ने कहा तलाक, तलाक, तलाक

रजवी ने कहा कि इसका इद्देश्य है कि एक साथ तीन तलाक के मामलों में लोग शरिया की रोशनी में अमल कर सकें। उन्होंने कहा कि हम मु्स्लिम महिलाओं से अपील करेंगे कि वह निजी मामले में पुलिस या कोर्ट में जाने से बचें।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story