Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गोरखपुर में 48 घंटों में 32 बच्चों की मौत, प्रशासन में मचा हड़कंप

गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में ऑक्सजीन की सप्लाई ठप होने की वजह से 30 बच्चों की मौत हो गई है।

गोरखपुर में 48 घंटों में 32 बच्चों की मौत, प्रशासन में मचा हड़कंप
X

उत्तर प्रदेश में गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में शुक्रवार को ऑक्सजीन की सप्लाई ठप होने की वजह से अस्पताल में भर्ती 32 बच्चों की मौत हो गई। जिस इलाके में यह अस्पताल है वह यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का चुनाव क्षेत्र है। हालांकि हाल ही में सीएम योगी ने यहां का दौरा किया था।

सूत्रों के मुताबिक जो ठेकेदार ऑक्सीजन की सप्लाई करता था उसके 68 लाख रुपए बकाया थे। इसी वजह से ठेकेदार ने हाथ खड़े कर दिए। नतीजा अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित हो गई। सभी बच्चे महराजगंज, सिद्धार्थ नगर और कुशीनगर के बच्चे हैं।

इसे भी पढ़ें: 15 अगस्त पर यूपी के सभी मदरसों में लगेंगे कैमरे, मुस्लिमों ने कहा- हम पर शक कर रही है सरकार

मेडिकल कॉलेज के इंसेफेलाइटिस वार्ड में चार मरीजों की मौत हो गई। वहीं, आठ नए मरीज भर्ती किए गए हैं। वार्ड में कुल 73 इंसेफेलाइटिस के मरीजों का अब भी इलाज चल रहा है। पूर्वांचल में इंसेफेलाइटिस का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है।

मेडिकल कॉलेज के इंसेफेलाइटिस वार्ड में हर दिन किसी न किसी की मौत होती है। आठ अगस्त को भी इस बीमारी से पांच मरीजों की मौत हो गई थी। महज एक दिन की शांति के बाद गुरुवार को फिर बीमारी के चलते इंसेफेलाइटिस वार्ड में चीखें गूंज उठीं।

पिछले 24 घंटे में गोरखपुर के कुशीनगर निवासी जुबैदा (12), सिद्धार्थनगर निवासी लवकुश (1.5), महराजगंज निवासी अब्दुल रहमान (2.5) और ज्योति (2.5) की मौत हो गई।

इसे भी पढ़ें: अयोध्या में विवादित स्थल पर उड़ा हेलीकॉप्टर, मचा हड़कंप

इसके साथ ही मेडिकल कॉलेज में इस साल बीमारी से मरने वालों की संख्या 133 हो गई है। वहीं बीते 24 घंटे में आठ नए मरीजों को भर्ती किया गया। इनमें गोरखपुर के चार, कुशीनगर के दो, महराजगंज और संतकबीरनगर के एक-एक मरीज शामिल हैं। इस वर्ष अब तक मेडिकल कॉलेज में इंसेफेलाइटिस के 504 मरीज भर्ती हुए हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story