Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शहीद DSP की मां ने कहा, ''यह कैसी आजादी और कैसा जिहाद''

अलगाववादियों का गढ़ कहलाने वाले श्रीनगर के डाउन-टाउन के खानयार में शुक्रवार सुबह सन्नाटा पसरा हुआ था।

शहीद DSP की मां ने कहा, यह कैसी आजादी और कैसा जिहाद
X

अलगाववादियों का गढ़ कहलाने वाले श्रीनगर के डाउन-टाउन के खानयार में शुक्रवार सुबह सन्नाटा पसरा हुआ था। इस सन्नाटे को अगर कोई तोड़ रहा था तो मस्जिद के पास एक मकान में रोती बिलखती औरतों के सवाल।

छाती पीट रही महिलाएं दिलासा देने आ रहे लोगों से बार-बार पूछ रहीं थीं कि यह कौन सी आजादी है? यह कौन सा इस्लाम और जिहाद है, जो मासूमों को शब-ए-कद्र की रात को कत्ल करने की इजाजत देता है।

खानयार में नौपुरा स्थित यह मकान था शहीद डीएसपी मोहम्मद अयूब का, जिन्हें शुक्रवार आधी रात के बाद जामिया मस्जिद के बाहर इस्लाम जिंदाबाद के नारे लगाती भीड़ ने मार डाला था। मकान के भीतर और बाहर खड़े लोग सब इस घटना से स्तब्ध थे।

दिवंगत की पत्नी को दिलासा दे रही उसकी भाभी ने कहा कि उसे किसी आतंकी ने नहीं मारा। उस मासूम को भीड़ ने मारा डाला।

1990 में शुरू किया था करियर :

शहीद डीएसपी मोहम्मद अयूब पंडित ने 1990 में बतौर सब इंस्पेक्टर पुलिस में अपना करियर शुरू किया था। वह कुछ साल पहले ही डीएसपी के पद पर पदोन्नत हुए थे और राज्य पुलिस के सिक्योरिटी विंग में तैनात थे। अक्सर उनकी ड्यूटी मस्जिद में ही लग रही थी और स्थानीय लोग भी उन्हें अच्छी तरह जानते थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story