Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारी बारिश से उत्तरकाशी में बाढ़ जैसे हालात, कई नदियों का जलस्तर बढ़ा

इन नदियों में पानी बढ़ने से शारदा का जलस्तर भी बढ़ जाता है। इससे एक बार फिर आपदा की संभावना बढ़ चुकी है।

भारी बारिश से उत्तरकाशी में बाढ़ जैसे हालात, कई नदियों का जलस्तर बढ़ा

उत्तरकाशी. उत्तराखंड में हो रहे लगातार बारिश की वजह से पिथौरागढ़ जिले में सिरकिला और बर्फ के ग्लेशियर टूट रहे हैं। इससे उत्तरकाशी में एक बार फिर आपदा के हालात बन गए हैं। बारिश की वजह से गोरी और इसके सहायक नदियों का जलस्तर बढ़ने लगा है और बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। इन नदियों में पानी बढ़ने से शारदा का जलस्तर भी बढ़ जाता है। इससे एक बार फिर आपदा की संभावना बढ़ चुकी है। मुनस्यारी के पूर्व ब्लॉक प्रमुख कुंदन सिंह टोलिया ने मुनस्यारी के एसडीएम को लिखित में सूचित किया है कि सिरकिला और बुर्फू में ग्लेशियर टूटकर खिसकने लगे हैं।

टोलिया ने यह भी बताया कि जलस्तर बढ़ने से हाल ही में तोला में गोरी में बना अस्थायी पुल बह गया था। अब तक पुल का पुनर्निर्माण न होने से आवाजाही में दिक्कत हो रही है। इस संबंध में एसडीएम ने बताया कि ग्लेशियर टूटने की पुष्टि के लिए दल भेजा जाएगा तथा तोला में पुलिया का निर्माण भी जल्द कराया जाएगा। उत्तरकाशी ‌की असी गंगा घाटी के गांवों में एक बार फिर आपदा जैसे हालात पैदा हो गए हैं। सरकार ने आपदा के दौरान अलग-थलग पड़ने वाले गांवों के लिए तीन माह का एडवांस खाद्यान्न कोटा तो दिया है, लेकिन संगमचट्टी से आगे रास्ता नहीं होने से खाद्यान्न गांव तक नहीं पहुंच पा रहा है। इससे मरीजों और गर्भवती महिलाओं को भारी मुसीबतों का सामाना करना पड़ रहा है।

उत्तरकाशी में रह रहे नागरिकों का कहना था कि सरकार से बस यही गुजारिश है कि रास्ता को साफ रखें और खाने-पीने की चीजों की मुहैया बराबर बनी रहनी चाहिए। रास्ता साफ रहने से किसी भी आपदा की वजह से समय पर अस्पताल पहुंचा जा सकता है। ज्ञात हो कि पिछले साल भारी बारिश की वजह से क्षेत्र में काफी जान-मान का नुकसान हुआ था और क्षेत्र को आपदा प्रभावित घोषित कर दिया गया था। इस बार भी भारी बारिश से इस तरह का अंदेशा जताया जा रहा है।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, उत्तराखंड में आई आपदा से जुड़ी अन्य जानकारी-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Share it
Top