logo
Breaking

भेड़िया बोले कांग्रेस को मजबूत करने आया वापस भूपेश और चौबे के समक्ष कांग्रेस में हुए शामिल भूपेश बाेले आगे आगे देखो होता है क्या ?

रायपुर कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री व जनता कांग्रेस सुप्रीमो अजीत जोगी को दो दिनों के भीतर लगातार दूसरा बड़ा झटका दिया है। अजीत जोगी की करीबी रहे पूर्व विधायक डोमेंद्र भेड़िया ने एक बार फिर कांग्रेस का दामन थाम लिया है।

भेड़िया बोले कांग्रेस को मजबूत करने आया वापस भूपेश और चौबे के समक्ष कांग्रेस में हुए शामिल भूपेश बाेले आगे आगे देखो होता है क्या ?
रायपुर कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री व जनता कांग्रेस सुप्रीमो अजीत जोगी को दो दिनों के भीतर लगातार दूसरा बड़ा झटका दिया है। अजीत जोगी की करीबी रहे पूर्व विधायक डोमेंद्र भेड़िया ने एक बार फिर कांग्रेस का दामन थाम लिया है। पीसीसी चीफ भूपेश बघेल और पूर्व नेता प्रतिपक्ष रविंद्र चौबे के समक्ष उन्होंने शुक्रवार को कांग्रेस में प्रवेश किया। इससे पहले जनता कांग्रेस के युथ विंग के अध्यक्ष विनोद तिवारी ने कांग्रेस में अपने साथियों के साथ प्रवेश कर लिया था। इसे जनता कांग्रेस के लिए करारा झटका माना जा रहा है।
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ का दामन छोड़कर कांग्रेस में प्रवेश करने के बाद डोमेंद्र भेड़िया ने कहा, मैं कांग्रेस को मजबूत करने के लिए वापस आया हूं। कार्यकर्ताओं की इच्छा थी कि मैं कांग्रेस में वापस आऊं। साथ ही परिवार से जुड़े लोग भी चाहते थे कि मैं कांग्रेस में ही रहूं। मेरी भी इच्छा थी कि उम्र के इस पड़ाव पर अपने परिवार और क्षेत्र के लोगों के साथ रहूं। इसलिए मैंने वापस कांग्रेस प्रवेश किया है। जहां तक जोगी कांग्रेस छोड़ने का सवाल है, मैं शिकवा शिकायत नहीं करना चाहता। खेती किसानी की वजह से मैं वहां सक्रिय भी नहीं था। जब मुझे लगा कि कांग्रेस में वापस आना चाहिए तो मैंने प्रवेश कर लिया है। उल्लेखनीय है, डोमेंद्र भेड़िया डौंडीलोहारा क्षेत्र से विधायक रहे हैं। उनका वर्ष 2013 में यहां से उनके स्थान पर कांग्रेस से उनकी भाभी अनिला भेड़िया को टिकट मिली थी। इसके बाद वे जोगी के साथ चले गए थे।
भूपेश बाेले- आगे आगे देखो होता है क्या कांग्रेस प्रवेश के दौर और जनता कांग्रेस से मोहभंग के बीच पीसीसी चीफ भूपेश बघेल ने संकेत दिया कि आगे और भी नेताओं का प्रवेश हो सकता है। विनोद तिवारी की कांग्रेस वापसी की हरिभूमि में प्रकाशित खबर को टैग करते हुए उन्होंने लिखा, अजीत जोगी, डॉ. रमन सिंह के इशारे पर भाजपा को फायदा पहुंचाने मैदान में उतरे हैं। यह बात जनता और उनकी पार्टी में गए कांग्रेस नेता पहचान रहे हैं। जैसे जैसे कलई खुल रही है, कार्यकर्ताओं को पर्दे के पीछे का गठबंधन नजर आ रहा है। उनके आने से कांग्रेस की नींव और मजबूत होती जा रही है। अभी तो यह शुरुआत है। आगे आगे देखिये होता है
Share it
Top