logo
Breaking

पंचायत में खड़े होकर सम्मान न करने पर काटा किशोर का हाथ, मुखिया के पति ने दिया घटना को अंजाम

डाक्‍टरों का कहना था कि अगर एक घंटे के भीतर पीडि़त का कटा अंग मिल जाता तो उसका हाथ जोड़ा जा सकता था।

पंचायत में खड़े होकर सम्मान न करने पर काटा किशोर का हाथ, मुखिया के पति ने दिया घटना को अंजाम
मदुरई. तीन व्यक्ति ने मंगलवार को विरुधुनगर में 17 साल के एक किशोर का हाथ काट दिया। उस लड़के ने ग्राम पंचायत की अध्यक्ष के पति का सम्मान नही किया था। पुलिस ने कहा कि कार्तिक पंचायत के अध्यक्ष देवी के आने पर खड़ा नही हुआ और वहीं बैठा रहा। देवी के पति कृष्णन ने कार्तिक के इस कथित असम्मानीय व्यवहार के कारण झगड़ा किया। गांव वाले इस विवाद को लेकर मध्यस्थता करने लगे ताकि दोनों पक्षों में शांति बनी रहे। कार्तिक की मां ने कुछ दिनों के लिए उसे गांव से बाहर शिवगंगा में रहने को कहा, जहां वो मजदूरी करता था।
कार्तिक जब शिवगंगा जा रहा था तब कृष्णन और उसके भाई कन्नन और कुमार ने उस पर हमला कर दिया था। वे उसको झाड़ियों में घसीट कर ले गये और उसका उसका बायां हाथ आधे से काट दिया। गांव वालों ने कार्तिक को बेहोशी की हालत में पाया और उसका हाथ कटा देखा तो मदुरई के सरकारी अस्पताल राजाजी में लेकर गये। पुलिस ने कहा की डॉक्टर ने सूचना थी कि अगर उसका कटा हुआ हिस्सा एक घंटे में मिल सकता है तो उसका हाथ फिर से जुड़ सकता है। लेकिन देर रात को ढूंढना मुश्किल था और हमलावरो ने भी हाथ को कुछ दूरी पर फेंक दिया था। मुक्कुलम पुलिस केस दर्ज कर तीनो अपराधी को ढूंढ रही है।

Share it
Top