logo
Breaking

केरल की महिला मंत्री ने पेश की मिसाल, किसान से की शादी

आदिवासी और युवा मामलों के मंत्रालय का पदभार संभालने वाली मंत्री की शादी को लेकर काफी समय से चचार्एं चल रही थीं।

केरल की महिला मंत्री ने पेश की मिसाल, किसान से की शादी
वायनाड. केरल में कांग्रेस की अगुवाई वाली यूडीएफ सरकार में एकमात्र महिला मंत्री पीके जयलक्ष्मी रविवार को पारंपरिक हिंदू आदिवासी रीति रिवाजों के अनुसार एक किसान के साथ शादी की डोर में बंध गईं। आदिवासी और युवा मामलों के मंत्रालय का पदभार संभालने वाली मंत्री की शादी को लेकर काफी समय से चचार्एं चल रही थीं। उनका विवाह वलाडू के समीप मम्बायिल में उनके पैतृक आवास पर हुआ।
इस शादी में मुख्यमंत्री ओमान चांडी, विपक्ष के नेता वीएस अच्युतानंदन और उनके कैबिनेट सहयोगियों ने भाग लिया। सुबह में आदिवासी रीति रिवाज कुरूचिया के बाद हरे रंग की सिल्क की साड़ी पहने जयलक्ष्मी ने चांडी और अच्युतानंदन के पैर छूकर उनका आशीर्वाद लिया। दूल्हा बने सीए अनिल कुमार सफेद रंग की कमीज और मुंडु पहने हुए थे। उन्होंने जयलक्ष्मी के गले में मंगलसूत्र पहनाया और उसके बाद दोनों ने एक दूसरे के गले में मोगरे के फूलों की माला पहनाई।
यह शादी समारोह इस मायने में खास था कि इसमें बड़ी संख्या में केरल की जानी मानी हस्तियों ने भाग लिया। लगभग 1200 लोगों ने इस शादी में शिरकत की । जिनमें रमेश चेन्निथला, के. सी. जोसफ और विधानसभा अध्यक्ष एन. सकथान भी शामिल थे। इस विवाह समारोह का स्थानीय टेलिविजन चैनलों ने सीधा प्रसारण किया।
शादी संपन्न होने के बाद जयालक्ष्मी के कैबिनेट कलिग, विधायक और केरल विधानसभा के स्पीकर ने नविवाहित जोड़े को बधाई दी और सभी ने ग्रुप फोटो भी खिंचवाया। उसके बाद जयालक्ष्मी अपने पति के साथ अपने आवास पर आ गईं। दरअसल, दोनों परिवारों के बीच यह शादी सात साल पहले ही तय हो गई थी।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारी
-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top